बिग ब्रेकिंग : सीटों का हुआ एलान महागठबंधन में फिर होगी टूट, एनडीए में भी नहीं है सबकुछ ठीक

Mukesh Sahni

डेस्क : इस वक्त की सबसे बड़ी खबर महागठबंधन में एक बड़ी टूट होने की सम्भावना निकल कर सामने आ रही है। आपको बता दें कि शनिवार शाम महागठबंधन के द्वारा आयोजित संयुक्त प्रेस वार्ता को बीच में ही छोड़कर वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी बाहर निकल गए । हलांकि मुकेश सहनी आखिर किन वजहों से बाहर निकले यह अभी तक सामने नहीं आ पाया है , लेकिन राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो महागठबंधन में बड़ी टूट हो सकती है। हालांकि जिस तरीके से मुकेश सहनी ने पिछले बीते दिनों में अपने पार्टी को सम्मानजनक सीट को लेकर दावा किया था ।

माना जा रहा है कि उसमें कहीं ना कहीं कोई चूक हुई है तेजस्वी ने महागठबंधन में वीआईपी को सम्मानजनक सीट शायद नहीं दिया, इस वजह से शनिवार शाम अभी अभी महागठबंधन के द्वारा आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुकेश सहनी बाहर निकल गए। जिसके बाद जो हुआ वह काफी हैरान करने वाला था , महागठबंधन के घटक दल आखिर बिहार के जनता के बीच जो ताकत और एकता की परिचय देने बाले थे, वह कहीं ना कहीं टूटती हुई नजर आ रही है। बता दें कि उक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में जो भी हुआ उससे यह साफ हो चुका है कि महागठबंधन में सब कुछ ठीक नहीं है कांग्रेस की अगर बात करें तो कांग्रेस नेता के तरफ से अभी तक कोई बरा बयान नहीं आया है। वामदलों को भी सम्मान जनक सीटें दी गयी है। लेकिन मुकेश सहनी बीच कॉन्फ्रेंस से बाहर निकले यह बड़ा सवाल बन गया है बताते चलें कि बीते दिनों में बिहार की राजनीतिक में लगातार उठापटक हुआ है उसका कहीं ना कहीं आने वाले दिनों की साफ साफ तस्वीर दिख रही है।

इधर एनडीए गठबंधन में भी नहीं बनी है अबतक बात वहीं बात एनडीए गठबंधन कि अगर करें तो भाजपा जदयू लोजपा और हम के बीच भी अभी सीटों का बंटवारा नहीं हो पाया है। लेकिन जैसे जैसे दिन, घंटे, मिनट बीते जा रहे हैं वह कहीं ना कहीं दोनों गठबंधन के घटक दलों पर भारी पड़ रहे हैं। बिहार की जनता भी उपापोह में है कि आखिर कौन से दल किस गठबंधन के साथ चुनाव में जा रहे है यह अबतक जनता समझ नहीं पा रही है।

बात वर्तमान स्थिति की करें और बिहार में हालिया राजनीतिक क्रम पर नजर डालें तो एक तरफ जहां रालोसपा ,जाप , आरजेजेपी और पुलुरल्स जैसे पार्टियों ने बिहार में तमाम राजनीतिक पार्टियों के लिए पेंचीदा समीकरण निर्माण किए हैं उसको लेकर यह तो तय माना जा रहा है कि आने वाले समय में महागठबंधन और एनडीए दोनों ही गठबंधन जो बिहार के बरे गठबंधन है। दोनों के बीच सीधी भिड़ंत होनी थी वह कहीं ना कहीं अन्य छोटे छोटे राजनीतिक दल के आने से स्थिति बदल सकती है।