मायके जाने की झूठा बहाना बनाकर प्रेमी के साथ बरौनी जंक्शन से फरार हुई थी महिला, 34 दिन बाद पति के सामने आया सच

Imran Wife

न्यूज डेस्क : जीआरपी बरौनी पुलिस ने 34 दिन पहले रहस्यमय तरीके से अपने एकलौते बेटे संग गायब हुई रौशन परवीन को यूपी प्रदेश से सकुशल बरामदगी एवं एक युवक को गिरफ्तार करने में जीआरपी ने सफलता पाई है। बेगूसराय से विगत 20 मई को गायब हुई महिला यूपी से बच्चे संग सकुशल बरामद कर ली गयी है। दरअसल यह महिला गायब नहीं हुई थी , बल्कि पति से मायके जाने के बहाने घर से निकलकर प्रेमी संग बरौनी जंक्शन से फरार हो गयी थी ।

इधर महिला के पति ने जीआरपी बरौनी को अपहरण होने की सूचना देकर मामला दर्ज कराया था । गायब होने के 34 दिनों के अंदर फिरौती की भी मांग नहीं हुई तो पुलिस ने अलग अलग एंगल पर काम करना शुरू किया एवं तकनीकी टीम ने इस घटना के उदभेदन में मुख्य भूमिका निभाई । इस संबंध में रेल पुलिस बरौनी इंस्पेक्टर इमरान आलम ने बताया गिरफ्तार युवक एवं महिला से जब पूछताछ की गई तो चौकाने वाली बातें सामने आयी है।दोनों ने बताया कि सोसल मीडिया पर एक साल पहले दोनों की दोस्ती हुई। दोस्ती प्रेम में बदला और दोनों ने साथ रहने का फैसला किया। जिसके बाद दोनों बरौनी जंक्शन परिसर में मिले और महिला ने अपना मोबाइल बंद कर प्रेमी संग फरार हो गये।

Imran

बताते चलें कि महिला के पति के अनुसार 20 मई को उसकी पत्नी इकलौते बच्चे के साथ अपने अस्थाई निवास मलहीपुर से अपने मायके समस्तीपुर जिला विशनपुर गांव के लिये टैम्पू पर सवार होकर सुबह 6:30 निकली थी।पति इमरान खान फर्टिलाइजर कर्मी अपनी पत्नी को मलहीपुर चौक पर टैम्पो पर बरौनी जंक्शन के लिए बिठाकर डियूटी पर चले गये।चुंकि महिला को ट्रेन के माध्यम से समस्तीपुर अपने मायके जाना था।लेकिन तीन घंटे बाद पत्नी रौशन परवीन का मोबाइल अचानक बंद हो जाना एवं 4 जून तक उक्त महिला का अपने मायके या अन्य किसी रिस्तेदार और सगे संबंधियों के यहां नहीं पहुंच पाना और मोबाइल भी हमेशा बंद पाये जाने की स्थिति में पति इमरान थक हार कर पत्नी और बच्चे की सकुशल बरामदगी के लिये 4 जून को जीआरपी बरौनी में पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

ये भी पढ़ें   जानें किन वजहों से बेगूसराय के प्रमंडल मुंगेर को विश्व प्रसिद्ध प्राप्त है

जिसके बाद रेल पुलिस बरौनी इंस्पेक्टर इमरान आलम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 20 जून का बरौनी जंक्शन परिसर का सीसी फुटैज खंगाला जिसमें संदिग्ध युवक के साथ महिला और बच्चे को देखा गया। जिसके बाद इंस्पेक्टर इमरान आलम ने कटिहार अधिक्षक कार्यालय से सम्पर्क कर तकनीकी टीम का सहायता लिया। जिसमें संदिग्ध युवक का ठिकाना यूपी प्रदेश के आगरा जिले के टुला बहवा थाना पाया गया।जिसके बाद वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर घटना का उदभेदन,अपहरणकर्ता की गिरफ्तारी एवं अपहृत महिला व बच्चे की सकुशल बरामदगी के लिये स्पेशल टीम का गठन किया गया।

जिसमें जीआरपी बरौनी इंस्पेक्टर इमरान आलम के मार्गदर्शन में इस मामले के अनुसंधानकर्ता नितेश कुमार,दिनेश यादव एवं महिला सिपाही कुमारी माया सिन्हा की मदद से यूपी आगरा जिले के जाटव टुला गांव थाना बाह से 24 वर्षीय विक्की उर्फ निर्मल को गिरफ्तार किया गया एवं आवेदनकर्ता एफसीआई सेफ्टी मैनेजर इमरान खान की पत्नी रौशनी परवीन एवं बच्चे इमनाज खान को सकुशल बरामदगी करने में जीआरपी बरौनी पुलिस की टीम सफल रही। वहीं इस संबंध में रेल पुलस  बरौनी इंस्पेक्टर इमरान आलम ने बताया कि गिरफ्तार युवक विक्की उर्फ निर्मल को जेल भेज दिया गया है। साथ ही महिला रौशन परवीन को 164 बयान के लिए न्यायालय के समक्ष उपस्थित किया गया।प्राथमिकी दर्ज किये जाने के 20 दिन बाद एवं घटना के 34 दिन बाद अपहृत महिला व बच्चे की सकुशल बरामदगी करने में जीआरपी बरौनी पुलिस सफल रही।