बेगूसराय में गाँव के बच्चे सीखेंगे अभिनय , एक फरवरी से शुरू होगी नाट्य कार्यशाला

Bal Kala

बेगूसराय : बेगूसराय के विभिन्नन क्षेत्रों में छुपे रंगमंच के बाल कलाकारों को नई दिशा देने के लिए लगातार प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाते रहे हैं। इसी कड़ी में एक बार फिर बाल रंगमंच आर्ट एंड कल्चरल सोसाइटी बीहट बरौनी द्वारा राजकीयकृत मध्य विद्यालय बीहट के प्रांगण में 20 दिवसीय प्रस्तुति परख नाट्य कार्यशाला आयोजित किया जा रहा है।

एक से 20 फरवरी तक आयोजित होने वाले इस नाट्य कार्यशाला में जिले के विभिन्न गांव के बच्चे अभिनय के गूढ़ रहस्य सीखेंगे। बाल रंगमंच के निदेशक युवा रंगकर्मी ऋषिकेश कुमार ने बताया कि 20 दिनों तक चलने वाली यह नाट्य कार्यशाला बच्चों के लिए पूर्ण रूप से निःशुल्क है। संस्था का मुख्य उद्देश्य है कि गांव में छुपी प्रतिभा को मंच और मुकाम देना। कई बच्चे शुल्क के कारण भी सीख नहीं पाते हैं। इसलिए बाल रंगमंच हमेशा की तरह इस बार भी बच्चों को निःशुल्क ही प्रशिक्षण देने जा रही है।

इस कार्यशाला के निर्देशक होंगे राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय नई दिल्ली से पास आउट श्याम कुमार सहनी और सहायक निर्देशक होंगे मध्य प्रदेश नाट्य विद्यालय भोपाल से पास आउट रवि वर्मा। बाल रंगमंच के अध्यक्ष राहत रंजन ने बताया की कोरोना काल के कारण एक साल से सांस्कृतिक गतिविधि में कमी आई है। लेकिन बाल रंगमंच हमेशा से ही अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर रहा है। जिसका प्रतिफल है कि 15 से अधिक बच्चे राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के संस्कार रंगटोली में चयनित हो चुके हैं। प्रस्तावित कार्यशाला की तैयारी पूरी कर ली गई है तथा यह एक बार फिर बाल कलाकारों को नई दिशा देगा। कार्यशाला के समापन के दिन श्याम कुमार सहनी के निर्देशन में नई नाट्य प्रस्तुति की जाएगी।

You cannot copy content of this page