जिले भर में जननायक कर्पूरी ठाकुर के जयंती पर श्रद्धापूर्वक किया गया नमन

बेगूसराय : जननायक कर्पूरी ठाकुर की 97 वीं जयंती के अवसर पर रविवार को उन्हें श्रद्धापूर्वक याद किया गया। इस मौके पर जदयू, राजद, शहीद सुखदेव सिंह समन्वय समिति समेत कई अन्य संघ-संगठनों द्वारा विभिन्न जगहों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। जनता दल (यू) अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ द्धारा पावर हाउस रोड स्थित कर्मशील भवन में मनाया गया।

अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष राम नरेश सिंह की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, जिलाध्यक्ष सह विधान पार्षद भूमिपाल राय, रुदल राय, राज्यपरिषद सदस्य ब्रजकिशोर मेहता, महासचिव विकाश कुशवाहा एवं अरुण महतों आदि ने कर्पूरी ठाकुर के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर चर्चा की। भूमिपाल राय ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर बिहार के एक ऐसे सीएम के रूप में जाने जाते हैं जिनके उपर पदों का प्रभाव कभी हावी नहीं हो सका। जब देश आजादी के लिए लड़ रहा था, उस समय बिहार जातिवाद की दंश झेल रहा था। इससे आजादी हासिल करना भी बिहार का एक बड़ा उद्देश्य बन चुका था, ऐसे में उन्होंने बिहार को संभाला।

उन्होंने सामाजिक न्याय को एजेंडा बनाया और एक नयी समाजवादी राजनीति का शंखनाद हुआ। उसी कार्य को आगे बढ़ते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कर्पूरी ठाकुर के अधूरे सपनों को पूरा कर रहे हैं। महानगर जदयू द्वारा नगर निगम क्षेत्र के वार्ड नंबर- 42 स्थित नव ज्योति पुस्तकालय में मनाई गई। जदयू जिलाध्यक्ष मुकेश कुमार जैन ने कहा उपेक्षितों के रहनुमा, महान स्वतंत्रता सेनानी एवं राजनीतिज्ञ, कर्पूरी ठाकुर जातिवाद, धर्मवाद, क्षेत्रवाद से बच कर जन-जन के लिए काम करते थे। सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव अवनीश कुमार वर्मा ने कहा कि आज हमें इनके पद चिन्हों पर चल कर चित्र नहीं चरित्र की पूजा करनी चाहिए। युवा जदयू द्वारा जिलाध्यक्ष गौरव सिंह राणा के नेतृत्व मे पार्टी कार्यालय में जयंती समारोह आयोजित किया गया।

मौके पर जिलाध्यक्ष गौरव सिंह राणा ने कर्पूरी ठाकुर को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न देने की मांग की। जिलाध्यक्ष ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर ने पिछड़ों, महिलाओं और आर्थिक आधार पर ऊंची जाति के लोगों को भी आरक्षण देने की हिमायती थे, इससे बिहार में बड़ा परिवर्तन आया। इस अवसर पर राज्य सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक जल जीवन हरियाली अभियान को लेकर जेके हाई स्कूल के परिसर में वृक्षारोपण कार्य भी किया गया। शहीद सुखदेव सिंह समन्वय समिति के तत्वधान में शिक्षक नेता अमरेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजद के प्रदेश महासचिव महादेव साहू ने कहा कि कपूरी ठाकुर जन-जन के नेता ही नहीं सामाजिक कार्यकर्ता भी थे।

वे समाज के बीच रहकर उनकी समस्याओं को अपनी समस्याएं मानते थे। उन पर राममनोहर लोहिया का पूर्णता प्रभाव था। राजद द्वारा नौरंगा पुल के समीप जिलाध्यक्ष मोहित यादव की अध्यक्षता कार्यक्रम आयोजित किया गया। जहां कि चेरिया वरियारपुर विधायक राजवंशी महतों एवं सामाजिक कार्यकर्ता मुकेश विक्रम समेत बड़ी संख्या में लोगोंं ने प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करनेेे के बाद, उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर चर्चा की।