दिया जा रहा प्रशिक्षण : आधुनिक जीवन शैली में बिमारी से बचने का एकमात्र उपाय, किसान करें ऑर्गेनिक खेती

Farmer Training

न्यूज डेस्क : बेगूसराय जिले में किसानों को फर्टिलाइजर उत्पादन का गुर सिखाया जाएगा। यह गुर ऐसे किसानों को सिखाया जाएगा। जो अप्रवासी हैं। बताते चलें कि बरौनी प्रखंड अन्तर्गत बभनगामा पंचायत में बभनगामा दुग्ध उत्पाद समिति के सभागार में अप्रवासी मजदूर एंव किसानों का 26 दिवसीय आर्गेनिक फटिलाईजर उत्पादन का प्रशिक्षण शिविर बुधवार को शुरु किया गया । जिसमें 60 प्रतिभागी ने भाग लिया शिविर का उद्धघाटन नागरिक कल्याण संस्थान के सचिव प्रों संजय गौतम , कृषि वैज्ञानिक डा रामपाल, दुग्ध समिति अध्यक्ष गुलशन कुमार , उन्नत कृषक राजनारायण सिंह, सर्वसेवा के सचिव चंद्रप्रकाश पोद्दार ने सयुंक्त रुप से किया।

मौके पर प्रो संजय गौतम ने कहा आधुनिक जीवन शैली में बिमारी से बचने का एकमात्र उपाय है, रसायनिक खाद का उपयोग कम करें और कृषक वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग कम करें । आर्गेनिक खेती करें आज हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण हो गया है। आमलोगों में कैंसर , लीवर , हार्ट ऐटेक ऐसे बिमारी का बढ़ना रसायनिक पदार्थ का उपयोग के कारण हो रहा है। साथ ही कृषि शिक्षा और स्वास्थय से सामाजिक सरोकार को जोडे़ । मौके पर कृषि वैज्ञानिक डां रामपाल ने कहा कि रसायनिक खाद का उपयोग करते करते हमारी मिट्टी बंजर हो गई है । कुछ फायदे के लिए रसायनिक खाद का उपयोग कर किसान आगे आने वाले समय में इसका नुकसान उठाएंगें।

जैविक खाद मिट्टी की शक्ति को बचाता है, साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार का अवसर भी देता है । मिट्टी में सभी तरह के किटाणु रहते है सभी का जिदां रहना जरुरी है । ये मिट्टी की शक्ति को कभी कम होने नहीं देगें । मौके पर कृषक राजनारायण ने कहा कि आज बीस बर्षो से हम जैविक खाद का उपयोग कर रहे है ।मौके पर ईटीआई से आशीष रंजन ,सामाजिक कार्यकर्ता मों गुलजार ,सुरेश पोद्वार ,धीरज कुमार, उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचालन सर्वसेवा के सचिव चंद्रप्रकाश पोद्दार कर रहे थे ।

You cannot copy content of this page