प्रखंड के कई विद्यालय हैं किचन शेड विहिन, जैसे तैसे बन रहा मिड डे मील

Mid Day Meal

भगवानपुर ( बेगूसराय) विजय भारती : प्रखंड क्षेत्र स्थित 112 प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में अध्ययनरत हजारों बच्चों को केन्द्र व राज्य सरकार के सहयोग से मध्याह्न भोजन योजना के तहत भोजन तो दिया जा रहा है लेकिन भोजन बनाने के लिए प्रखंड क्षेत्र के लगभग 17 विद्यालयों में इस योजना को संचालित करने के लिए आजतक किचन शेड की व्यवस्था नहीं हो पाई है, जिसके कारण बरामदे या फिर वर्गकक्ष में ही भोजन बनाने का कार्य चल रहा है। जहां एक ओर विद्यालयों में छात्रों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ रही है वहीं संबंधित विद्यालयों में एक कमरा स्टोर रूम के रूप में उपयोग में लाया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रखंड क्षेत्र स्थित प्राथमिक विद्यालय हण्डालपुर, उत्क्रमित मध्य विद्यालय अम्बेडकरनगर मोख्तियारपुर, उत्क्रमित मध्य विद्यालय चकदुल्लम, रसलपुर,बगरस, मोजाहिदपुर, उर्दू बनवारीपुर, जमालपुर,करजानटोल, मुशहरी मोख्तियारपुर, नवीन दादपुर,गोधनाचक, रघुनंदनपुर, बनवारीपुर, एनपीएस जगदीशपुर, एनपीएस बनवारीपुर आदि ऐसे विद्यालय हैं जहां भोजनालय की व्यवस्था आजतक नहीं हो पाई है, जिसके कारण संबंधित विद्यालय के शिक्षक व रसोईया को अनेक समस्याओं से जुझना पड़ता है।

प्रखंड क्षेत्र स्थित प्राथमिक विद्यालय हण्डालपुर के तृतीय वर्ग कक्ष में ही एक तरफ जहां वर्ग चलता है, वहीं दूसरी ओर मध्याह्न भोजन योजना का कार्य चलता है। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार फण्ड की कमी तथा संबंधित विद्यालयों में जमीन का अभाव भोजनालय निर्माण में बड़ी बाधक है। मिली जानकारी के अनुसार कुछ विद्यालयों में किचन शेड इतना जर्जर है कि बारिश के समय मध्याह्न भोजन योजना की सामग्री भींगने से बर्बाद हो जाता है बावजूद इसके सूचना के बाद भी इसका मरम्मत के प्रति विभाग उदासीन दीखता है।

ये भी पढ़ें   रेलवे स्कूल गढ़हरा के पुनः संचालन को लेकर संघर्ष समिति ने अबीर गुलाल लगाकर खुशी का इजहार किया

विदित हो कि प्रखंड क्षेत्र में स्थित बहुत विद्यालयों में मध्याह्न भोजन बनाने तथा भोजन करने के लिए थाली का भी घोर अभाव है, जिसके कारण बच्चे खाने के लिए थाली का इंतजार करते हैं। अभी तक थाली तथा मध्याह्न भोजन योजना संचालित होने वाले सामग्री का अभाव होना सरकार के शिक्षा के प्रति उदासीन रवैए को प्रमाणित करता है।