बेटे को क्रिकेटर बनने के चक्कर में पिता पुलिस की नौकरी तक छोड़ दी, अब बेटा आईपीएल में कप्तानी करेगा, जाने कौन है

Sanju Samson

क्रिकेट एक ऐसा खेल जिसे सिर्फ भारत में ही नहीं माना जाता है। बल्कि इससे पूरे विश्व के लोग लोग भावात्मक रुप से जुड़े हुए हैं। इसीलिए तो जब किसी का बच्चा क्रिकेट का बल्ला पकड़ता है। तो उस वक्त मां-बाप ही होते हैं। जो अपने बच्चे के सपनों में पंख लगाने के लिए उसे प्रेरित करते रहते हैं। आज आपको एक ऐसे ही क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे है। जिनके पिता ने उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाने के लिए अपनी पुलिस की नौकरी तक छोड़ दी थी।

संजू सैमसन के पिता ने छोड़ी थी नौकरी.. एक पिता अपने बच्चों के सपनों को लेकर किसी भी हद तक जाने को तैयार रहता है। इसका एक जिता जाता उदाहरण आपको संजू सैमसन के पिता द्वारा मिल जाएगा। दरअसल, संजु के पिता केरल पुलिस में कांस्टेबल के पद पर कार्यरत थे। संजू के क्रिकेट करियर को बनाने में इन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके लिए उन्होंने अपनी नौकरी तक को भी छोड़ दिया। आपको बता दें संजू के बड़े भाई सैली सैमसन भी क्रिकेट खेला करते हैं। अपनी स्कूल शिक्षा लेने के बाद संजू ने क्रिकेट की कोचिंग लेना शुरु कर दिया।

संजू अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खुद को साबित नही कर पाया संजू सैमसंग ने 2011 में घरेलू क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया। धीरे-धीरे खेलने के बाद वह केरल के लिए विकेटकीपर-बल्लेबाज की भूमिका निभाने लगे। तभी उनके घरेलू प्रदर्शन को देखते हुए भारतीय चयनकर्ताओं ने उन्हें 2015 में जिम्बाव्बे के खिलाफ पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका दिया। लेकिन कमबख्त जहां, ये बल्लेबाज खुद को साबित करने में नाकामयाब रहा। लेकिन फिर भी संजू सैमसंग ने हार नहीं मानी। इसके बाद 2020 में एक बार फिर घरेलू प्रदर्शन को देखते हुए सैमसन को भारतीय टीम ने खेलने के लिए दूसरा मौका दिया। मगर बदकिस्मती से फिर वह खुद को साबित नहीं पाया। साल 2020 के आखिर में जब वो भारतीय टीम, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गये। तब टीम मैनेजमेंट ने ऋषभ पंत को स्क्वाड में नहीं चुना। और Sanju Samson को तीनों टी20ं मैच खेलने का मौका दिया। अब तक कुल 7 T20 मैचों में सैमसन ने 83 रन बना चुके हैं।

IPL 2021 में राजस्थान के लिए करेगे कप्तानी आईपीएल 2021 के लिए राजस्थान रॉयल्स ने स्टीव स्मिथ को रिलीज कर दिया है‌। और टीम की कमान केरल के विकेटकीपर-बल्लेबाज संजू सैमसन के हाथों सौंपी है। सैमसन की कप्तानी में राजस्थान के फैंस को फ्रेंचाइजी से काफी उम्मीदें होंगी। क्योंकि पिछले कुछ सीजनों से टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। और वह लंबे वक्त से टॉप-4 में भी जगह नहीं बना सकी है। हालांकि देखना दिलचस्प होगा की राजस्थान रॉयल्स का नया कप्तान उन्हें किन ऊंचाईयों तक लेकर जाता है।

You may have missed

You cannot copy content of this page