अंधविश्वास का ड्रामा, सांप काटने पर डॉक्टर नहीं झाड़ फूंक कराने ले गए लोग

डेस्क : जिले में कोरोना के बीच सर्पदंश से मरने बालों की संख्या में भी नियमित वृद्धि जारी है। ताजा मामला बछवाड़ा थाना क्षेत्र के रानी तीन पंचायत का है। जहां रानी गांव के वार्ड संख्या 9 निवासी सुरेन्द्र पासवान का तेरह वर्षीय पुत्री काजल कुमारी की मौत गुरुवार की रात सर्पदंश से हो गयी। परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार काजल कुमारी रात में अपने घर में सोई हुई थी।

सोए अवस्था में अर्ध रात्रि करीब दो बजे किसी जहरीले सर्प ने उसे डस लिया। सर्प के डसने से काजल की नींद खुल गई तथा सांप देख कर वह जोर से चीखने और चिल्लाने लगी, चीखने चिल्लाने की आवाज पर परिवार के लोग जग गए। सर्प दंश की बात सन परिजनों द्वारा अंधविश्वास के चक्कर में परके उसे तत्काल ओझा के पास ले जाकर झार फूंक कराने पहुंचे रानी गांव के पंचवटी स्थान के पास पहुँचे, झाड़फूंक में सुबह हो गया।

इस दौरान बालिका के हालात में सुधार होने के बजाय हालात बिगड़ती चली गई। जिसके बाद परिजनों ने आनन फानन में बच्ची को लेकर दलसिंहसराय के एक निजी अस्पताल पहुंचे लेकिन तबतक काफी बिलंब हो चुका था। चिकित्सकों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद परिजनों में चीत्कार मच गया। बताया जाता है कि काजल आठवीं कक्षा की छात्रा थी।