बेगूसराय के इस दम्पति ने कोरोना संक्रमित होने के बाद साथ मिलकर लड़ा जंग और दे दी कोरोना को मात

Covid Bgs

न्यूज डेस्क : बेगूसराय में कोरोना से पीड़ित लोगों का हौसला बढ़ाने के लिए एक ऐसे दम्पति उदाहरण बन गए हैं। जो पति और पत्नी दोनों कोरोना संक्रमित होने के बाद अपने मजबूत हौसले से न सिर्फ कोरोना को हराया बल्कि आज सकुशल और स्वस्थ्य भी है। पूरा मामला बेगूसराय जिले के मंसूरचक प्रखंड क्षेत्र का है। जहां प्रखण्ड क्षेत्र के बहरामपुर पंचायत अंतर्गत नैयपुर गांव निवासी समाजिक कार्यकर्ता 48 वर्षीय धर्मवीर सिंह कुदंन और उनकी पत्नी 45 वर्षीय प्रमीला सिंह ने कोरोना की जंग जीतने में सफलता पाई।

उन्होंने बताया कि शुरू में हल्का फुल्का लक्षण महसूस होने पर मंसूरचक अस्पताल में विगत 2 मई को जाकर जांच करवाया। जिसमें पाजिटिव पाया गया था। और मेरे साथ में पत्नी भी थी । उसने भी जांच करवाई और वो पाजिटिव निकल गई। घर के अंदर ही आईशोलेट होकर दोनों एक – एक कमरे में रहने लगे और बड़ा बेटा सिर्फ खाना पीना का व्यवस्था कर देता और वह भी कमरे के दरवाजे पर रख देता था। जहाँ से हमलोग ले लेते थे।

एक करीबी के कोरोना संक्रमित होने पर हुई थी मौत फिर भी न हारे हिम्मत इससे पहले हमारे पंचायत के सरायनूरनगर निवासी शिक्षक और हमारे करीबी की मौत पाजिटिव आने के बाद 30 अप्रैल हो गया जिसके बाद हमारे मन में भी डर सा था । क्योंकि उनके पाजिटिव आने के बाद मैंने उन्हें घबराने के लिए नहीं कहा था । लेकिन लाख कोशिशों के बाद भी नहीं बचाये जा सके। जिसके बाद से ही मुझे शरीर में दर्द, कमजोरी, बुखार सा अनुभव होने लगा और जांच करवाया था । डाक्टर के परामर्श सबसे दूरी और दवा लेकर कोरोना से पति पत्नी ने जंग जारी रखा। महामारी से घबराना नहीं चाहिए बल्कि डट कर लड़ना चाहिए तभी जंग जीता जा सकता है।

You cannot copy content of this page