मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जिले के सभी त्रि-स्तरीय पंचायती राज एवं नगर निकायों के जनप्रतिनिधियों को दिया निर्देश

डेस्क : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वैश्विक महामारी कोरोना की रोकथाम के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थान व नगर निकाय के जनप्रतिनिधियों तथा सभी पदाधिकारियों को संबोधित किया. जिला पदाधिकारी श्री अरविंद कुमार ने बताया कि राज्य के सीएम के द्वारा त्रिस्तरीय पंचायती राज नगर निकायो के जनप्रतिनिधियों तथा सभी संबंधित पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद स्थापित किया गया। इस अवसर पर माननीय मुख्यमंत्री ने सभी जनप्रतिनिधियों का कोविड -19 महामारी के दौरान सकारात्मक भूमिका के लिए आभार यक्त करते हुए अपील किया कि कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति लोगों में जागृति लाने में भी अपनी भूमिका सुनिश्चित करे।

इसके लिए सभी व्यक्तियों को “मास्क के उपयोग”, “सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन, “कोरोना संक्रमण लक्षण दिखने पर तत्काल स्थानीय चिकित्सा केंद्र से संपर्क करने के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है। माननीय मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी के रोकथाम की दिशा में सरकार प्रयत्नशील है लेकिन सभी के सहयोग से ही इससे निजात मिल सकेगी। लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद स्थिति भले ही सामान्य प्रतीत हो रहा हो, लेकिन कोरोना वायरस के प्रति लोगों को सजग और सचेत रहने की आवश्यकता है। इसके लिए सरकार और प्रशासन के द्वारा व्यापक जन-जागरूकता की कार्ययोजना तैयार की गई है लेकिन जनप्रतिनिधि भी अपने स्तर से लोगों को जागरूक करे।

उन्होंने राज्य के बाहर से आए लोगों को रोजगार उपलब्धता के लिए किए जाने वाले प्रयासों के संबंध में भी जानकारी दी तया कहा कि सरकार का प्रयास है कि वापस लौटे लोग पुनः रोजगार के लिए बिहार से वापस नहीं आए। इसके लिए आवश्यकतानुसार रोजगार सृजन के साथ-साथ व्यापारिक नीतियाँ एवं औद्योगिक नीतियों में भी सभी संभावित परिवर्तन किए जाएंगे। उन्होंने समाजिक सौहार्द और भाईचारे को भी बनाए रखने की अपील की। जिला पदाधिकारी ने बताया कि जिले के सभी जनप्रतिनिधियों के व्यापक भागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा जिला स्तर के साथ-साथ प्रखंड स्तर पर भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था की गई। जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिला पदाधिकारी के साय श्री रविंद्र चौधरी, अध्यक्ष, जिला परिषद, श्री उपेंद्र प्रसाद सिंह, महापौर, नगर निगम श्री राजीव कु. रंजन, उप महापौर, नगर निगम श्री सच्चिदानंद सुमन, एसडीएम आदि मौजूद थे।