सफल रहा हड़ताल, चिकित्सा के साथ खिलवाड़ नहीं करें सरकार : आईएमए

बेगूसराय, 11 दिसम्बर : आयुर्वेद चिकित्सकों को सर्जरी की अनुमति मिलने के खिलाफ शुक्रवार को किए गए 12 घंटे की हड़ताल को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने सफल करार दिया है। आईएमए के बेगूसराय सचिव डॉ. निशांत ने हड़ताल समाप्ति के बाद शुक्रवार की शाम को बताया कि सरकार की दोषपूर्ण स्वास्थ्य नीति के विरोध में आईएमए का 12 घंटे का देशव्यापी हड़ताल सफल रहा।

जिले में आम चिकित्सीय सेवा बाधित रही, सिर्फ आकस्मिक सेवा बहाल रही। जिले के अधिकतर अस्पताल और क्लिनिक बंद रहे। आईएमए की मांग है कि चिकित्सा क्षेत्र के एक विधा में प्रशिक्षित चिकित्सकों को दूसरे विधा में प्रैक्टिस करने की अनुमति नहीं मिले। आयुर्वेदिक और होमियोपैथी में प्रशिक्षित हमारे चिकित्सा साथी अपने विधा में रिसर्च करें, उसे आगे ले जाएं, देश के विकास में अपना बहुमूल्य योगदान दें। लेकिन बिना बात, विचार, विमर्श और आम सहमति के उन्हें एलोपैथी प्रैक्टिस की पूरी तरह से अनुमति देना भी ठीक नहीं।

पहले सरकार आईएमए और विभिन्न चिकित्सक संगठनों और एक्सपर्ट स्वास्थ कमिटी से वार्ता कर एक सकारात्मक आम सहमति बनाये कि किस तरह की एलोपैथी प्रैक्टिस करने की अनुमति इन्हें मिले। आयुर्वेद अपने आप मे एक व्यापक और समृद्ध चिकित्सा का क्षेत्र है। इसे खूब विकसित और विश्वस्तरीय किया जाए। लेकिन चिकित्सा की विभिन्न पद्धतियों को मिश्रित करना खतरनाक पहल है। आईएमए इसका विरोध करती है, सरकार चिकित्सा के साथ खिलवाड़ नहीं करे।

You cannot copy content of this page