Viral Fever: भागलपुर अस्पताल में वायरल फीवर के मरीजों के लिए बना विशेष वार्ड , जानें- मरीजों के लिए क्या-क्या सुविधाएं उपलब्ध होगी

Bhagalpur Hospital

न्यूज डेस्क : देश भर में वायरल फीवर का कहर जारी है। लेकिन, इसी बीच बिहार, झारखंड, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, समेत कई राज्यों में यह वायरल फीवर तेजी से फैलता जा रहा है। इसमें ज्यादा दिक्कत की बात यह है, कि इसमें सबसे ज्यादा बच्चे बीमार हो रहे हैं। बिहार और पड़ोसी राज्य यूपी में अस्पतालों में जगह नहीं है। लेकिन इसी बीच बिहार से एक पॉजिटिव खबर आ रही है। खबर यह है कि भागलपुर स्थित जवाहरलाल नेहरू मेडिकल अस्पताल (Jawaharlal Nehru Medical and Hospital) ने वायरल फीवर के मरीजों के लिए एक विशेष वार्ड बना दिया है। वायरल बुखार के मामलों के अलावा, टाइफाइड, बहुत तेज बुखार, दस्त और उल्टी से पीड़ित कई मरीज भी जेएलएनएमसीएच अस्पताल इसका भी इलाज अलग से कर रही हैं।

अब तक 100 से अधिक मरीज या चुके है अस्पताल अस्पताल के प्रबंधकों ने बताया की बढ़ते वायरल फीवर के मरीज व गले और लंग इन्फेक्शन के बढ़ते मरीजों को देख हमने विचार किया की एक इन सभी मरीजों के लिए एक विशेष वार्ड की अवस्यकता है। अब तक 100 से ज्यादा वाइरल फीवर के मरीज पिछले 10 दिनों में अस्पताल का चक्कर लगा चुके है ऐसे में यह अती आवश्यक था। कि जल्द से जल्द मरीजों के लिए वार्ड की व्यवस्था किया जाए।

अस्पताल में यह सारी सुविधाएं उपलब्ध होगी: जानकारी देते हुए जवाहरलाल नेहरू मेडिकल अस्पताल के डॉक्टर असीम कुमार दास ने बताया मरीजों को 2 अलग अलग हिस्सों में बाट दिया गया है। जहां वाइरल फीवर के मरीजों को एक तरफ रखा गया है वही कोविड के मरीजों को एक तरफ इसके साथ ही पेडियात्रिक इन्टेन्सिव केयर यूनिट ( Pardiatric Intensive care unit) में 30 बेड रखे गए है। इसी तरह नवजात गहन चिकित्सा इकाई ( Neonatal Intensive care unit) भी तैयार की गई है, जिससे वायरल संक्रमण की चपेट में आए नवजात शिशुओं का खास ख्याल रखा जा सके। डॉक्टरों की मानें तो यह वाइरल फीवर से घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अस्पताल में पर्याप्त बुनियादी ढांचा और संसाधन हैं जिससे हर उम्र के मरीजों का इलाज किया जा सके। उन्होंने यह भी बताया की वह कोविड -19 प्रोटोकॉल के तहत सावधानी बरत रहे हैं और वाइरल फीवर और कोविद मरीजों का अलग अलग इलाज कर रहे है।

You may have missed

You cannot copy content of this page