जिले में “जल जीवन हरियाली” के तहत जल्द ही इन सभी प्रखंडों में सोख्ता निर्माण एवं पोखर जीर्णोद्धार किया जाऐगा

DM Begusarai

जिले के विभिन्न प्रखंडों में जल्द ही “जल जीवन हरियाली” योजना के तहत नलकूपो,तालाबों, सोख्ता निर्माण का कार्य पूर्ण किया जाएगा। साथ ही जिले में मनरेगा के तहत क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं एवं संबंधित मामलों निष्पादन किया जाएगा। उक्त बातें कारगिल विजय सभा भवन में बेगूसराय जिला अधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने कही। इस अवसर पर उन्होंने बताया सोख्ता निर्माण एवं पोखर जीर्णोद्धार अथवा निजी पोखर निर्माण के कार्यों को प्राथमिकता देने हेतु जल्द ही सुनिश्चित कर लिया जाएगा।

ताकि मानव दिवस के सृजन के साथ-साथ जल जीवन हरियाली अभियान को भी गति प्रदान की जा सके। जिला पदाधिकारी ने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान के अवयव के रूप में शामिल इन योजनाओं के क्रियान्वयन से जहां अभियान को गति मिलेगी वहीं अधिकाधिक मानव कार्य दिवस सृजन भी किए जा सकेंगे। इसी क्रम में उन्होंने निजी खेत पोखर के कार्यों की समीक्षा के दौरान ऑन-गोइंग 98 निजी खेत पोखर के कार्यों को भी एक माह के अंदर पूर्ण करने का निर्देश दिया। इससे पूर्व 190 निजी खेत पोखर से संबंधित कार्यों को पूर्ण किया जा चुका है। इसी प्रकार सरकारी तालाब/पोखर/पाईन के जीर्णोद्धार के कार्यों की समीक्षा के दौरान जिला पदाधिकारी ने कुल लक्ष्य 588 के विरूद्ध मात्र 99 तालाब/पोखर/पाईन के कार्यों के पूर्ण होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा 85 ऑन-गोइंग योजनाओं को भी अविलंब पूर्ण करने का निर्देश दिया।

जिले के इन प्रखंडों में जल्दी कार्य संपन्न हो जिला पदाधिकारी द्वारा विशेष तौर पर बखरी, बलिया,बेगूसराय, साहेबपुरकमाल प्रखंडों के कार्यक्रम पदाधिकारियों को लक्ष्य के विरूद्ध कम प्रगति पर अपनी कार्यशैली में सुधार लाने का निर्देश दिया गया। मनरेगा के तहत सोकपिट निर्माण के कार्यों की समीक्षा के दौरान भी उन्होंने बताया अब तक मात्र 2071 सोकपिट का निर्माण कार्य पूर्ण होने के कमतर बताया तथा ऑन-गोइंग 3443 सोकपिट के निर्माण कार्य को भी अभियान चलाकर पूर्ण करने का निर्देश दिया। उन्होंने सोकपिट संबंधी नए योजनाओं को भी टेकअप करने का निर्देश दिया। जिला पदाधिकारी ने मनरेगा के तहत क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं से जुड़े अनियमितता संबंधी परिवादों की गहनता से जांच करने का निर्देश देने के साथ-साथ दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने सभी कार्यक्रम पदाधिकारियों को भी सप्ताह में तीन दिन क्षेत्र भ्रमण करने तथा योजनाओं के भौतिक निरीक्षण करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त सुशांत कुमार सहित सभी प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी आदि मौजूद थे।

You cannot copy content of this page