बिहार सरकार के पूर्व मंत्री स्व हरिहर महतों के पुत्र का निधन, APSM कॉलेज से हुए थे सेवानिवृत

Girish Prasad Sinha

न्यूज डेस्क : जिले के छौड़ाही प्रखंड के अमारी गांव निवासी पूर्व मंत्री स्व हरिहर महतो के 68 वर्षीय पुत्र प्रोफेसर गिरीश प्रसाद चंद्र सिन्हा का निधन ईलाज के दौडान शहर के एक निजी हॉस्पिटल में बुधवार की अहले सुबह में हो गया। उनके निधन की खबर मिलते ही अमारी गांव समेत पूरे जिले में भर में शोक की लहर दौड़ गई। फिलहाल प्रोफेसर गिरीश प्रसाद चंद्र सिन्हा पोखरिया स्थित अपने निजी आवास में रहते थे।

उनका इकलौता पुत्र कुमार अभिनव ने बताया कि मेरे पिताजी का अचानक तबीयत 13 मई को जब बिगडने लगा तो उनका कोविड का जांच कराया गया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आ गया। उसके बाद उन्हें इलाज के लिए 14 मई को शहर के एक निजी हॉस्पिटल में उन्हें ईलाज के लिए भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर के द्वारा मेरे पापा को बचाने का अथक प्रयास किया गया। मेरे पापा को पेट के लिवर में काफी दिनों से प्रॉब्लम चल रहा था। दूसरा ऊपर से कोविद से पीड़ित होने के बाद उनका ऑक्सीजन लेवल बहुत हो गया था। डॉ ने बचाने का अथक प्रयास किए लेकिन मेरे पिताजी 19 मई की सुबह 4:30 बजे में कोरोना से जंग हार कर अंतिम सांस ली। उनके निधन की खबर मिलते ही पूरे जिले भर में शोक की लहर दौड़ गई। प्रोफेसर गिरीश प्रसाद चंद्र सिन्हा एपीएस एम कॉलेज बरौनी से वर्ष 2016 में सेवानिवृत्त हुए थे। स्व० सिन्हा अपने पीछे एक भड़ा पूरा परिवार छोड़ कर चले गए।

उन्हें एक मात्र पुत्र कुमार अभिनव और तीन पुत्रियों में विदुषी गौतम ,स्मिता रजनीश और दीप्ति गौतम नाम है। जिले के पवित्र सिमरिया गंगा तट पर अंतिम दाह संस्कार कर दिया गया । जहाँ मुखाग्नि उनके इकलौते पुत्र कुमार अभिनव ने दी। उनके निधन पर अपनी गहरी शोक संवेदना व्यक्त करने वाले लोगों में जदयू के युवा नेता डॉ प्रवीण कुमार ,डॉ अदिति सिंह विमला सिन्हा ,विष्णु देव महतो, पत्रकार आशुतोष कुमार आर्य ,नंद किशोर सिंह ,प्रोफेसर शिवनाथ सिंह ,शिव शंकर सिंह, डॉ संजू प्रिया, संतोष कुशवाहा, त्रिपुरारी महतों ,दिलीप कुमार,जेडीयू नेता श्याम बिहारी वर्मा ,हरे कृष्ण सिंह समेत सैकड़ों लोगों ने उनके निधन पर अपनी गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।

You cannot copy content of this page