अपने पुत्र की स्मृतिशेष को देख पिता की आंख आसुओं से भर गए, शौर्य को लोगों ने किया नमन

Amresh Father Umesh Ji

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : देश की सेवा में वीरगति प्राप्त करने बाले बेगूसराय के मंझौल के लाल शहीद अमरेश की तीसरी शहादत दिवस पर रविवार सुबह बीएसएफ 134 बटालियन के इंस्पेक्टर राकेश कुमार शहीद के घर तक पहुंचे। इस क्रम में तय कार्यक्रम के अनुरूप सीवरी पुल के समीप उनकी गाड़ी पहुंची । जहां उनका स्वागत माला पहनाकर किया गया।

इसके बाद उनकी गाड़ी को साथ करके तिरंगा यात्रा निकाल कर मंझौल वासियों ने मंझौल बाजार पुस्तकालय चौक होते हुए बल्लम टोला शहीद के घर पहुंचा । तिरंगा यात्रा में देशभक्ति गीत , भारत माता की जय , अमरेश भैया अमर रहे , हिंदुस्तान जिंदाबाद , शहीद अमरेश अमर रहे , वीर शहीद अमर रहे के नारे से पूरा मंझौल गूंजता रहा । मंझौल के बल्लम टोला रविवार लगभग दस बजे सैकड़ों की तादात क्षेत्र के नौजवान , बुजुर्ग , महिला , पुरूष सभी पहुंचकर शहीद के सम्मान में पहुंचे थे। जहां पर बीएसएफ के अधिकारी राकेश कुमार ने शहीद को पुष्पांजलि अर्पित कर सलामी पेश किया । मंझौल आगमन पर ग्रामवासियों की ओर से पूर्व विधायक अनिल चौधरी ने चादर से इंस्पेक्टर राकेश कुमार का स्वागत किया।

ततपश्चात शहीद अमरेश के स्मृति भवन का बीएसएफ अधिकारी व पूर्व विधायक अनिल चौधरी ने फीता काटकर लोकापर्ण किया । सैकड़ों की संख्या में मंझौल ग्रामवासी बल्लम टोला पहुंचे थे । जहां शहीद भवन के छत पर बीएसएफ के अधिकारी ने झंडोतोलन किया । इसके उपरांत तिरंगा झंडे के समीप राष्ट्रगान गाया गया । शहीद भवन में संजोए गए स्मृतिशेष को बटालियन के इंस्पेक्टर ने देखा। इस दौरान शहीद अमरेश के पिता उमेश सिंह उनके साथ मौजूद थे । अपने शहीद पुत्र की स्मृति को देख उनके आंख आसुओं से भर गए थे।

बीएसएफ इंस्पेक्टर ने शहीद अमरेश को राष्ट्रपति के द्वारा मिले वीरता पुलिस पदक के सम्बंधित कागजात समर्पित किया । उन्होंने कहा कि इसमें कहा कि शहीद जवान के अदम्य साहस की शौर्य गाथा का वृतांत भी है। इंपेक्टर राकेश ने कहा कि अमरेश की सहादत मंझौल वासियों , बेगूसराय वासियों और देश के लिए बहुत ही गर्व की बात है। उनके बलिदान को सम्मान मिला है। सर्वोच्च बलिदान को गणतंत्र दिवस के अवसर पर वीरता पुलिस पदक ( मरणोपरांत ) देश के राष्ट्रपति ने सम्मान प्रदान किया है। जिस तरह से उन्होंने इस ऑपरेशन में अपने साहस और अदम में अपने साथी और बल को बचाने के लिए हिमालय की तरह अडिग रहकर अपने आपको वीरगति प्राप्त किया बाकी जवानों को बचाकर उन्होंने अतुलनीय काम किया उन्होंने सिर्फ अपने माता-पिता को नहीं बल्कि पूरे देश का सीना गर्व से ऊंचा किया।

पूर्व विधायक अनिल चौधरी ने शहीद की शहादत इलाके और देश का गौरव है जबान पुत्रों का चला जाना किसी भी पिता के लिए परिवार के लिए दुख की घड़ी होती है किंतु इस तरह से सहादत देना उमंग उत्साह और प्रेरणा का कारण बनता है अमरेश ने अपनी शहादत देकर इस मिट्टी का गौरव बढ़ाया है। इस पूरे कार्यक्रम में भाजपा के मंडल अध्यक्ष सह सांसद प्रतिनिधि पंसस मनोज भारती , पूर्व मंडल अध्यक्ष ब्रजेश सिंह , अधिवक्ता सह भाजपा नेता शरद कुमार, संजीव झा , अभाविप के विभाग संयोजक कन्हैया कुमार , पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अमृतांशु कुमार , नगर अध्यक्ष रविराज सिंह , नगर मंत्री सिम्मी सिंह , छात्र नेता मुरारी कुमार , प्रीतम कुमार , गुलशन कुमार , मंझौल चार के मुखिया राजेश कुमार, पूर्व मुखिया अरुण सिंह , वरिष्ठ पत्रकार महेश भारती , संगम प्रियदर्शी आदि थे ।

You may have missed

You cannot copy content of this page