RCS कॉलेज मंझौल के छात्र ऑनलाइन लेक्चर से घर बैठे कर रहे हैं पढ़ाई

मंझौल : कोरोना महामारी से बचाव को लेकर देशव्यापी लॉक डाउन का तीसरा चरण जारी है, सभी प्रकार के शैक्षणिक संस्थान और शैक्षणिक गतिविधियां मार्च के आधे महीने से ठप है,अभी खुलने के भी कोई आसार प्रतीत नहीं हो  रहे हैं। इस बीच अनुमंडल क्षेत्र में  पढ़ाई जारी रखने के लिये ऑनलाइन लेक्चर और मेटीरियल वैकल्पिक स्रोत के रूप में छात्रोपयोगी साबित हो रहे हैं।

बताते चलें कि अनुमंडल मुख्यालय के आरसीएस कॉलेज मंझौल के ज्यादातर छात्र छात्राएं  कॉलेज के  ऑनलाइन वेवसाइट से लाभान्वित हो रहे हैं।  मिली जानकारी के अनुसार  कॉलेज के ऑफसीयल वेवसाइट rcscollegemnjhaul.org पर स्नातक और इंटरमीडिएट के छात्र छात्राओं के लिए अबतक विभिन्न विषयों के लगभग चार सौ  वीडियो लेक्चर अपलोड किये गए हैं। वहीं वर्ग और सेशन के हिसाब से अलग अलग व्हाट्सअप ग्रुप संचालित करके छात्रों के सवाल को सम्बंधित विभाग के प्रोफेसरों द्वारा  हल किया जा रहा है। सभी विभागाध्यक्ष द्वारा जूम एप से वर्ग तालिका के अनुसार स्नातक प्रथम एवं द्वितीय खण्ड का ऑनलाइन वर्ग संचालित किया जा रहा है।  दूसरी तरफ  विज्ञान विभाग में जंतु विज्ञान को छोड़कर गणित,भौतिकी, रसायनशास्त्र और वनस्पति विज्ञान के छात्रों में मायूसी छाई हुई है, उक्त विषयों  के  शिक्षक कॉलेज में नहीं होने से उक्त विषय का स्टडी मेटीरियल छात्रों नहीं मिल रहा है। 

ऑनलाइन स्टडी मेटेरियल से छात्र छात्राएं हो रहे हैं लाभान्वित-  भूगोल विभाग के छात्र नीतीश  कुमार , वर्षा , निधि , सानवी आदि ने बताया कि लॉक डाउन से पहले हमलोग कॉलेज में नियमित वर्ग आते थे, लेकिन कॉलेज बन्द होने के बाद पढ़ाई बाधित थी,फिर विश्वविद्यालय से जारी निर्देश के बाद कॉलेज के वेवसाइट पर पढाई के मेटीरियल मिलने से घर बैठे पढ़ाई बेरोक टोक जारी है, थैंक्यू रविकांत सर। विदित हो कि वेवसाइट पर सबसे ज्यादा स्टडी मेटेरियल और लेक्चर भूगोल विभाग से ही डाला गया है।

विज्ञान विभाग के छात्रों को हो रही परेशानियां  होगी दूर : महाविद्यालय के प्रिंसिपल डॉ नवीन सिंह ने उक्त विषयों से सम्बंधित छात्रों की समस्या को दूर करने के लिये प्रयासरत होने की बात कही, उन्होंने कहा कि छात्रों के जो भी दिक्कतें हैं उनको जल्द दूर किया जायेगा, कॉलेज प्रशासन प्रयासरत है कि सभी स्टडी मेटेरियल मिल जाये ।