बेगूसराय में मीनाक्षी को न्याय दिलाने की उठी मांग , छात्राओं ने निकाला आक्रोश मार्च

Justice for Meenakshi

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : विगत दिनों वीरपुर थाना क्षेत्र की 12 वर्षीया छात्रा के घर से निकलने और पाँच दिनों के बाद उसकी शव बूढ़ी गंडक नदी से बरामद किया गया था । इस मामले में वीरपुर पुलिस के हाथ कुछ खास सफलता नहीं लग पाई है। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अमीन हमजा एवं जिला छात्रा संयोजिका सह श्रीकृष्ण महिला महाविद्यालय छात्रसंघ अध्यक्ष अप्सरा कुमारी ने कहा कि मीनाक्षी के गायब होने की खबर वीरपुर थाना में उनके परिजनों के द्वारा दिया गया।

लेकिन पुलिस की लापरवाही और निष्क्रियता की वजह से एक छात्रा की हत्या हो गई। जिला प्रशासन अविलंब मीनाक्षी के हत्यारे को गिरफ्तार करे नहीं तो हमारा संगठन जिला प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलने को बाध्य होगा, जिसकी जवाबदेही जिला प्रशासन की होगी। उन्होंने यह बातें वीरपुर की छात्रा मीनाक्षी की हत्या से आक्रोशित एआईएफएफ की छात्राओं द्वारा शनिवार को निकालेए आक्रोश मार्च को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में देश की छात्राएं-महिलाएं असुरक्षित हैं। पूरे देश भर में हो रहे दुराचार की घटनाओं पर सरकार पूरी तरह से मौन है।

सरकार की चुप्पी अपराधियों से गठजोड़ को दर्शाता है। जिला मंत्री किशोर कुमार, उपाध्यक्ष राकेश कुमार, कोषाध्यक्ष अमरेश कुमार, सह सचिव सदरे आलम खान ने कहा कि जिले में लगातार अपराधी का बोलबाला बढ़ रहा है। बढ़ते अपराध से खौफ का माहौल है। जिला प्रशासन अपराधियों एवं ऐसे कुकर्मी व्यक्तियों पर शिकंजा कसे नहीं तो आने वाले दिनों में प्रशासन के लापरवाही के खिलाफ आर-पार की लड़ाई होगी। इससे पहले छात्राओं का जत्था पटेल चौक स्थित जिला कार्यालय से जुलूस की शक्ल में निकला नारे लगाते हुए बाजार का भ्रमण कर पटेल चौक स्थित सरदार पटेल की प्रतिमा के समक्ष सभा में तब्दील हो गया।

वी वांट जस्टिस फ़ॉर मीनाक्षी दूसरे तरफ सोशल मीडिया पर दिनभर अलग अलग लोग हाथ में पेपर पर वी वांट जस्टिस फ़ॉर मीनाक्षी लिखकर न्याय की मांग करते दिखे ।

इस घटना क्रम से आक्रोशित वीरपुर प्रखंड क्षेत्र समेत आस पास के गावों के सेकरौं लोगों ने शनिवार शाम में मासूम बच्ची की की घर से पाना पुर गोला चौक तक केंडल मार्च निकालकर न्याय की मांग की , ओम प्रकाश सिन्हा, राम चंद्र मधुकर, शिव चक्रवर्ती, अजय झा, माध्व महतो, संदीप कुमार मिश्रा, मोहम्मद शमशाद आलम, अरूण चौधरी, कुनाल कुमार, केदार चंद्र वंशी, सुनील मिश्रा, सोमु सिन्हा, मोहम्मद नजरे, सुरेश पासवान, बब्लू सिन्हा, मोहम्मद सुऐब, मोहम्मद जावेद खान के नेतृत्व में कैंडल मार्च निकाल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए उच स्तरीय जांच कमेटी की मांग करते हुए दोषी की अविलंब गिरफ्तारी करने की मांग जिला प्रशासन से किया है ।

You may have missed

You cannot copy content of this page