बड़ी खबर : बेगूसराय में व्यवसायी के घर हुए डकैती कांड का पुलिस ने किया खुलासा

Begusarai Police

डेस्क : बेगूसराय पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। विगत 5 दिसंबर को शहर के स्वर्ण व्यवसायी के यहां हुई डकैती कांड का बेगूसराय पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। शुक्रवार को स्वर्ण व्यावसायी के घर हुए भीषण डकैती का खुलासा बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार ने अपने कक्ष में किया । व्यवसायी कपिलेश्वर मंडल के घर में छः अज्ञात अपराधियों के द्वारा हथियार के बल पर घरवाले को अपने कब्जे में लेकर तथा गंभीर रूप से जख्मी कर सोने-चाँदी का आभूषण तथा 70,000/- रूपया नगद की डकैती की घटना को अंजाम दिया गया था।

उक्त कांड के उद्भेदन एवं लुटे गये समान की बरामदगी एवं अपराधकर्मियों की गिरफ्तारी हेतु बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार ने बेगूसराय एसडीपीओ अमित कुमार के नेतृत्व में विभिन्न थाना के थानाध्यक्ष , दरोगा एवं सशस्त्र चीता बल का विशेष अनुसंधान दल का गठन किया गया था। दल के द्वारा तकनीकी एवं मैनुअल सूचना संकलन कर कांड का उद्भेदन कर पटना, हाजीपुर, बेगूसराय, बिहार राज्य से बाहर पश्चिम बंगाल एवं अपराधियों के घर पर छापामारी किया गया। जिसमें पश्चिम बंगाल स्थित गुरुलिया से अप्राथमिकी अभियुक्त गोपाल चौधरी के घर से लुटे गये समान में से 01 किलोग्राम चाँदी, 79 ग्राम सोना, 1,72,000/- रूपया बरामद किया गया। छापामारी के क्रम में पुलिस को 23 दिसंबर को गुप्त सूचना मिली कि नगर थाना क्षेत्र में स्वर्ण व्यवसायी के दूकान से हुए लूटकांड का कुख्यात फरार मटिहानी थाना निवासी शशी ठाकुर अपने गैंग के साथ मुफसील थाना क्षेत्र के भारद्वाजनगर में अपने किराये के मकान पर भारी मात्रा में पैसे का बँटवारा कर बिना नम्बर के हुण्डई कार से हथियार से लैस मटिहानी की ओर जा रहा है।

ये भी पढ़ें   बेगूसराय : सड़क दुर्घटना में दो युवक गंभीर रूप से घायल..

पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए मटिहानी थानान्तर्गत मटिहानी बदलपुरा चौक पर से चीता बल के सहयोग से घेराबंदी कर हुण्डई कार को रोका गया, रुकते ही उसमें सवार एक व्यक्ति भाग गया । कार सवार चार व्यक्तियों को पकड़कर तलाशी लेने पर सभी के पास से हथियार, कारतूस, रूपया बरामद हुआ। उक्त पकड़ाये व्यक्तियों से पुछने पर पुलिस को पता चला कि 5 दिसम्बर को रतनपुर ओ०पी० क्षेत्र के मियाचक मोहल्ला में स्वर्ण व्यवसायी कपिलेश्वर मंडल के घर से लूटा गया आभूषण को गलाकर बाकरगंज, पटना में बेचे थे । उसी का पैसा का बँटवारा कर मटिहानी की ओर जा रहे थे, कि सभी रास्ते में ही पकड़ा गये कुख्यात तथा शशि ठाकुर भाग गया।