भारत के इस बड़े खिलाड़ी को पुलिस ने पकड़ा, सब्जी खरीदने के लिए तोड़ा ये नियम!

चेन्नई. भारत के पूर्व क्रिकेटर रॉबिन सिंह पर लॉकडाउन नियमों के कथित उल्लंघन के मामले में 500 रूपये जुर्माना लगाया गया है और उनकी कार जब्त कर ली गई है. तमिलनाडु का यह पूर्व क्रिकेटर कार से सब्जी लेने गया था और उसे पुलिस ने पकड़ लिया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि उन पर 500 रूपये जुर्माना लगाया गया है. कोरोना वायरस महामारी के फैलाव के कारण चेन्नई और आसपास के तीन जिलों में कड़ा लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा दिया गया है. इसके तहत लोग जरूरी के लिये घर के आसपास दो किलोमीटर के भीतर ही जा सकते हैं और वाहन का इस्तेमाल नहीं कर सकते.

रॉबिन सिंह का करियर बता दें रॉबिन सिंह भारत के लिमिटेड ओवर फॉर्मेट के बेस्ट ऑलराउंडर्स में से एक रहे हैं. उनकी बल्लेबाजी और खासतौर पर फील्डिंग कमाल थी. रॉबिन सिंह ने भारत के लिए 136 वनडे और 1 टेस्ट मैच खेला. रॉबिन सिंह का जन्म त्रिनिडाड में हुआ था. महज 19 साल की उम्र में वो चेन्नई आ गए थे और उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास से अर्थशास्त्र में मास्टर्स की डिग्री ली. इस दौरान उन्होंने क्रिकेट भी खेला और वो तमिलनाडु के लिए 1985-86 में पहली बार रणजी सीजन खेले. बता दें रॉबिन सिंह अभी भी चेन्नई में अपनी पत्नी सुजाता और बेटे धनंजय के साथ रहते हैं. रॉबिन सिंह की चेन्नई में क्रिकेट एकेडमी भी है.

रॉबिन सिंह ने भारत के लिए 136 वनडे मैचों में 2336 रन बनाए और उनके बल्ले से 1 शतक और 9 अर्धशतक निकले. रॉबिन सिंह ने 137 फर्स्ट क्लास मैचों में 46 की बेमिसाल औसत से 6997 रन भी ठोके. इस दौरान उनके बल्ले से 22 शतक और 33 अर्धशतक निकले. रॉबिन सिंह ने वनडे में 69 और फर्स्ट क्लास में 172 विकेट झटके.

रॉबिन सिंह का कोचिंग करियर रॉबिन सिंह ने रिटायरमेंट के बाद ही कोचिंग शुरू कर दी थी. रॉबिन सिंह सबसे पहले भारत की अंडर 19 क्रिकेट टीम के कोच बने. इसके बाद उन्होंने हांगकांग का कोचिंग पद संभाला और उन्हें 2004 एशिया कप के लिए क्वालिफाई कराया. साल 2006 में रॉबिन सिंह इंडिया ए क्रिकेट टीम के कोच बने, जहां उन्होंने गौतम गंभीर और रॉबिन उथप्पा जैसे खिलाड़ियों को कोचिंग दी. साल 2007 और 2008 में वो भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच बने और आईपीएल में वो डेक्कन चार्जर्स के हेड कोच बने. अक्टूबर 2009 तक वो भारत के फील्डिंग कोच रहे और उसके बाद वो आज मुंबई इंडियंस से बतौर बल्लेबाजी कोच जुड़े हुए हैं. बांग्लादेश प्रीमियर लीग में भी वो खुलना डिविजन क्रिकेट टीम के कोच रहे और श्रीलंका प्रीमियर लीग की उवा टीम को भी उन्होंने कोचिंग दी. सीपीएल में भी वो बारबाडोस ट्राइडेंट्स के कोच रहे.

इनपुट न्यूज़ 18