बेगूसराय में पैक्स अध्यक्ष का नामांकन कराने पहुंचे भाजपा नेता को पुलिस ने किया गिरफ्तार, आक्रोशित समर्थकों का हंगामा

छौड़ाही / बेगूसराय : बेगूसराय जिला में पैक्स अध्यक्ष पद पर नामांकन कराने पहुंचे भाजपा नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को बेगूसराय के छौड़ाही प्रखण्ड कार्यालय पैक्स अध्यक्ष के पद पर नामांकन करने पहुंचे छौड़ाही प्रखंड के मालपुर पैक्स अध्यक्ष एवं भाजपा किसान मोर्चा के जिला महामंत्री धर्मेंद्र प्रसाद सिंह को नामांकन उपरांत के उपरांत छौड़ाही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बीएओ छौड़ाही की पिटाई मामले में चार आरोपित के एक साथ रहने के बावजूद मात्र एक आरोपित को गिरफ्तार करने करने को ले समर्थकों ने छौड़ाही ओपी की ओर कुच कर दिया।

आक्रोशित समर्थकों ने ओपी पर पत्थरबाजी के साथ साथ टेबल कुर्सी तोड़ फोर करने लगे। इस दौरान पुलिसकर्मियों पर भी आक्रोशित लोग आगबबूला दिखे । बताते चलें कि मंगलवार को भाजपा किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष रामकुमार वर्मा, जिला महामंत्री धर्मेंद्र प्रसाद सिंह मालपुर पैक्स अध्यक्ष पद के नामांकन के लिए छौड़ाही प्रखंड कार्यालय पहुंचे थे। नामांकन के पश्चात सभी लोग प्रखंड कार्यालय से बाहर निकलने लगे तभी छौड़ाही ओपी के प्रभारी ओपी अध्यक्ष एके ओझा मालपुर पैक्स अध्यक्ष सह किसान मोर्चा जिला महामंत्री धर्मेंद्र प्रसाद सिंह का कालर पकड़ अपने साथ ले जाने लगे। पूछने पर कहा इन्हें कृषि पदाधिकारी के साथ मारपीट करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

वहां मौजूद भाजपा किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष रामकुमार वर्मा, भाजपा मंडल अध्यक्ष संजीव यादव, अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष अरसे आजम ने कहा कि उक्त मामले में हम सभी समान धाराओं के आरोपित हैं, मुझे भी गिरफ्तार कीजिए। लेकिन छौराही पुलिस कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हुई और भाजपा नेता धर्मेंद्र सिंह को लॉकअप में ले जाकर बंद कर दिया। पुलिस की इस कार्रवाई से भाजपा समर्थक भड़क छौड़ाही ओपी में मौजूद पुलिस कर्मियों को धक्का मुक्की देते हुए टेबल कुर्सी तोड़ डाला। कई पुलिसकर्मी की पिटाई कर दी गई। वहीं तमाम भाजपा नेता छौड़ाही ओपी के सामने धरना पर बैठ गए।

कहते हैं भाजपा किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष जिला अध्यक्ष रामकुमार वर्मा ने कहा कि छौड़ाही पुलिस राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों से रुपए लेकर भाजपा नेताओं को परेशान कर रही है। एक केस में हम चार भाजपा नेता आरोपित हैं। नामांकन के वक्त भी साथ थे लेकिन सिर्फ एक आरोपित धर्मेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया गया है। यह बेगूसराय पुलिस के लिए शर्म की बात है। हम लोग चैन से बैठने वाले नहीं हैं, करारा जवाब दिया जाएगा। दूसरी तरफ घटना की सूचना मिलते ही मंझौल एसडीएम मुकेश कुमार, डीएसपी सत्येंद्र सिंह घटनास्थल पर पहुंच लोगों को समझा कर शांत कराया। डीएसपी ने बताया कि उचित कानूनी कार्रवाई होगी। पुलिस निष्पक्ष तरिके से काम करेगी। रामकुमार वर्मा एवं संजीव यादव को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।