बेगूसराय में दस हजार की आबादी के जल निकासी का रास्ता रोकने से ग्रामीणों में आक्रोश , सड़क निर्माण रोका

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : बेगूसराय के छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के नारायणपीपड़ पंचायत के ग्रामीणों ने छौड़ाही बखड्डा अम्बेडकर चौक से ब्लाँक होते हुये नारायणपीपड़ गुआवाड़ी से खांजहांपुर होते हुये चेरियाबरियारपुर विश्वकर्मा चौक तक चल रहे सड़क निर्माण कार्य पर रोक लगाते हुये सड़क पर धरना देने बैठ गये।ग्रामीणों का आरोप है कि सड़क निर्माण के दौरान निर्माण कंपनी द्वारा आश्वासन दिये जाने के बाद भी जलनिकासी के लिये बने बहाव को तोड़ दिया गया।

जिससे गाँव की दस हजार की आबादी जलजमाव जैसी समस्या से प्रभावित होगा।नारायणपीपड़ गाँव स्थित तीनबट्टा पर रामबालक सिंह के घर के निकट धरना पर बैठे पूर्व मुखिया सह सीपीआई के अंचल मंत्री गुणेश्वर साहनी स्थानीय समाजसेवी राम उदित राय एवं पूर्व पंसस नरेश साहनी का कहना था कि नारायणपीपड़ गांव के उक्त जगह तीनबट्टिया पर तकरीबन दस हजार की आबादी का एकमात्र जल निकासी होने का स्रोत है।आरसीडी के तहत चल रहे उक्त सड़क निर्माण कार्य किया जा रहा है.सड़क निर्माण कंपनी ने वर्तमान जलनिकासी के स्त्रोत को जेसीबी से तोड़कर तहस नहस कर दिया है।

परिस्थिति ऐसी हो गयी है कि अब जब जलनिकासी के रास्ते बंद हो जायेंगें तो गाँव की बड़ी आबादी को जलजमाव की गंभीर समस्या का सामना करना पड़ेगा।सड़क जाम कर धरनास्थल पर बैठे ग्रामीणों के सहयोग से कार्य को तत्काल रोका दिया गया। पूर्व मुखिया साहनी का कहना था कि पूर्व में हमलोगों को आश्वासन दिया गया था कि पानी बहाव नहीं रुकेंगे,लेकिन इसे जेसीबी से तोड़ दिया गया है।हमलोगों को केवल जल निकासी चाहिये।ग्रामीणों का कहना था कि निर्माण कार्य तबतक जारी होगा।जब तक ग्रामीणों की समस्या हल नहीं किया जाता।ग्रामीणों द्वारा सड़क जाम और धरना की खबर विभागीय एवं मंझौल के एसडीएम को मिली।प्रशासन त्वरित कार्रवाई करते हुये आरसीडी के अधिकारी को धरनास्थल पर भेजा।

जानकारी मिली है,विभागीय अधिकारी को स्थल निरीक्षण के लिये भेजा जा रहा है। जानकारी मिली है कि ग्रामीण जलनिकासी की समस्या को लेकर सड़क जाम कर धरना की सुचना मिली है.।कार्यपालक अभियंता को भेज कर निर्माण कार्य को आगे बढ़ायेंगेंं और समस्या का समाधान होगा। दिव्य सौरभ एसडीओ,आरसीडी बेगूसराय ग्रामीणों के धरनास्थल पर पहुँचे आरसीडी कार्यपालक अभियंता,जलनिकासी की समस्या का सामाधान का दिया आश्वासन। ग्रामीणों के जलनिकासी की समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया गया है।18 मार्च 2021 से जलनिकासी के लिये पुलिया निर्माण का कार्य शुरू कर दिया जायेगा।जलनिकासी की समस्या का समाधान कर दिया गया है।सड़क निर्माण कार्य पुनः शुरू करवा दिया गया है।ग्रामीणों ने आश्वासन पर सड़क जाम ओर धरना समाप्त कर दिया है।