सीवरेज प्लांट बनाने को पदाधिकारी ने किसानों के बगैर सहमति के कम दर पर जमीन किया अधिग्रहण , विरोध शुरू

न्यूज़ डेस्क , बेगूसराय : सीवरेज प्लांट के लिए बगैर सहमति के अधिग्रहण करने और व्यवसायिक जमीन का कम मूल्यांकन किए जाने से आक्रोशित किसानों ने शुक्रवार को बेगूसराय में धरना प्रदर्शन किया। सीवरेज प्लांट स्थल पर धरना दे रहे किसान हीरा चौधरी, अनिल कुमार झा, शिव शंकर झा, गौरव कुमार, अशोक चौधरी आदि ने बताया कि हमारी व्यवसायिक जमीन राजापुर डुमरी मौजा में अवस्थित है।

जहां कि नगर निगम द्वारा सीवरेज प्लांट बनाया जाना है। लेकिन जिला भू अर्जन पदाधिकारी द्वारा हम किसानों की बगैर सहमति लिए ही जमीन के दाम का बहुत कम मूल्यांकन कर अधिग्रहित कर लिया गया है। भूमि अधिग्रहण से संबंधित मामला मुंगेर प्राधिकरण में लंबित है। हीरा चौधरी अपनी जमीन में ईंट चिमनी चलाते थे, जो बंद हो गया, उन्हें लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है। लेकिन सरकार और प्रशासन हम किसानों की समस्या का समाधान करने के लिए तैयार नहीं है। मजबूर होकर हम लोग सरकार और प्रशासन को जगाने के लिए आज सांकेतिक धरना दे रहे हैं।मांग पूरी नहीं हुई तो चरणबद्ध आंदोलन के तहत धरना प्रदर्शन और भूख हड़ताल करेंगे।

धरना दे रहे किसानों के समर्थन में आए भाकपा जिला सचिव मंडल सदस्य अनिल कुमार अंंशु, मटिहानी अंचल मंत्री आनंद प्रसाद सिंह एवं भाकपा नेता रामकुमार आदि का कहना था कि किसानों की जमीन का एक लाख 50 हजार रुपए प्रति डिसमिल की दर से निर्धारण करते हुए, उक्त राशि का चार गुना मुआवजा दिया जाए। इसके साथ ही कार्य में जिन किसानों का जमीन लिया जा रहा है उनके परिवार से एक-एक व्यक्ति को नौकरी दी जाए। हम विकास में बाधक नहीं हैं और जमीन देने के लिए तैयार हैं, लेकिन उचित मुआवजा मिले। अगर शासन-प्रशासन हमारी मांग को गंभीरता से नहीं लेगी तो आंदोलन काफी उग्र होगा।