NTPC का उद्देश्य है बिहार को बिजली के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना : मुख्य महाप्रबंधक रविंद्र कुमार राउत

बेगूसराय : नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन (एनटीपीसी) बरौनी ने मंगलवार को अपने स्थापना का तीन साल पूरा कर लिया। इस अवसर पर सेवा भवन परिसर में आयोजित समारोह में मुख्य महाप्रबंधक रविंद्र कुमार राउत ने एनटीपीसी ध्वज फहराया, इसके बाद ध्वजारोहण के सम्मान में एनटीपीसी गीत ‘अंधकार की घोर निशा में ज्योति किरण बनकर हम छाएं’ सभी कर्मियों द्वारा गाया गया। कार्यक्रम के दौरान मुख्य महाप्रबंधक एवं समस्त अधिकारियों द्वारा एनटीपीसी के रंग के गुब्बारे को आसमान में छोड़ा।

स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य महाप्रबंधक ने कहा कि 15 दिसम्बर 2018 को बीएसपीजीसीएल द्वारा एनटीपीसी को स्थानांतरित किया गया था। हस्तांतरण का मुख्य उद्देश बिहार को बिजली के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना है। एनटीपीसी द्वारा अधिग्रहण के पश्चात इस परियोजना को पूरा करने के लिए एनटीपीसी कर्मचारियों द्वारा अथक प्रयास किए गए हैं। अपने कुशल प्रबंधन एवं तकनीकी क्षमता से एनटीपीसी बरौनी उत्पादन क्षेत्र में नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। यह एनटीपीसी के सदस्यों की प्रतिबद्धता, समर्पण, क्षमता और सृजनात्मकता के कारण ही संभव हो पा रहा है। इस परियोजना के यूनिट सात एवं आठ का सफलतापूर्वक वाणिज्यिक परिचालन किया गया है तथा यूनिट छह और नौ को शीघ्र ही सिंक्रोनाइज किए जाने का कार्य जोरों पर है। सिंक्रोनाइजेशन के पश्चात इसका वाणिज्यिक परिचालन प्रारंभ किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पिछले एक वर्ष में कई कार्यों का सफल निष्पादन तथा कई उपलब्धियां हासिल की गई है। बीएसपीबी द्वारा 12 जून 2020 को बायो मेडिकल वेस्ट के लिए प्राधिकरण प्राप्त हो चुका है। 26 जून 2020 को 4.5 मेट्रिक टन फ्लाई ऐश की नीलामी की गई है तथा बिक्री अक्टूबर 2020 से शुरू कर दी गई है, आठ दिसम्बर को पहला रैक गढ़हरा यार्ड से रवाना किया गया। अक्टूबर 2020 में यूनिट आठ द्वारा तीन बार शत प्रतिशत से अधिक पीएलएफ एक दिन में प्राप्त किया गया तथा मासिक उपलब्धता 90.3 रही। बैगन ट्रिपलर बाईपास रेलवे लाइन तक का कार्य पूरा किया गया तथा रेलवे लाइन का फिटनेस प्रमाण पत्र प्राप्त किया गया।

ऐश डाइक में पीडीएफ एचडीपीई लाइनर का कार्य 30 सितम्बर को पूरा किया गया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 रोकथाम एवं कर्मचारियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के कई इंतजाम किए गए हैं। लेकिन इसकी रोकथाम के लिए सेल्फ डिसिप्लिन का मंत्र एसएमएस-सेनिटाइजर, मास्क और सोशल डिस्टेन्स जरूरी है। इसके बाद सामुदायिक विकास योजना के तहत आपपास के गांव के 15 दिव्यांग लोगों के बीच मुख्य महाप्रबंधक द्वारा ट्राई साइकिल और कंबल का वितरण किया गया। कार्यक्रम के तीसरे पड़ाव में एनटीपीसी के प्रांगण में ही अधिकारियों द्वारा वृक्षारोपण किया गया। कार्यक्रम का संचालन दिनकर शर्मा और धन्यवाद ज्ञापन दीपक पाठक ने किया।