तेघड़ा विधायक के जदयू में शामिल होने से बेगूसराय में NDA का बिगड़ सकता है 3+3+1 का समीकरण

BIRENDRA MAHTO JOIN JDU

डेस्क : बेगूसराय में राजनीतिक हलचल हाई हो गयी है। ये इसलिए हो गया है कि मंगलवार को तेघड़ा विधायक वीरेंद्र महतो राजद छोर कर जदयू की सदस्यता ग्रहण कर लिए। जदयू नेता ललन सिंह के समक्ष वीरेंद्र महतो ने जदयू की सदस्यता ग्रहण कर ली। जिसके बाद से बेगूसराय में राजनीतिक पंडित , सामाजिक समीकरण के आंकलनकर्ता व पोलिटिकल कमेंटेटर एक्टिवेट मोड में आ गए हैं।

कयास लगाए जा रहे हैं बेगूसराय भाजपा के एक दिग्गज तेघड़ा सीट पर 2020 में चुनाव लड़ने के इक्छुक हैं लेकिन तेघरा से राजद वीरेंद्र महतों के जदयू में शामिल होने से अब यह सीट जदयू के कोटे में जाती दिख रही है। अगर ये समीकरण बने तो बेगूसराय में जदयू के दो सिटिंग सीट मटिहानी व चेरिया बरियारपुर के साथ तेघरा के आ जाने से तीन सीट पर दावेदारी हो जाएगी। विकल्प में बेगूसराय सदर, बखरी , एसकमाल व बछवाड़ा इसमे से बछवाड़ा सीट पिछली बार 2015 में लोजपा के कोटे में थी। लेकिन अब एसकमाल के लोजपा के प्रदेश स्तर के एक नेता टिकट की जुगत में हैं ऐसे अगर एसकमाल की सीट लोजपा कोटे में जाएगी फिर लोजपा के लिए अपने वरिष्ठ नेता व एक्स एमएलए अनिल चौधरी को किस सीट से मैदान में उतारेगी ये देखना दिलचस्प हो गया है।

हालांकि समीकरण के लिहाज से देखा जाए तो बीजेपी के पास बछवाड़ा, बेगूसराय सदर और बखरी विस क्षेत्र बचेगा जिसमे से बखरी सुरक्षित सीट है। सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार इस परिस्थिति में भी परिवर्तन की सम्भावना एक सौ प्रतिशत बनी हुई है। तेघड़ा विधायक वीरेंद्र महतों को जदयू के शीर्ष नेतृत्व से सायद मोकामा से टिकट दिए जाने का आस्वासन मिला है। तब ऊपर के सारे समीकरण उलट पुलट हो जाएंगे । इसी तरह के चुनावी चकल्लस के लिए आप द बेगूसराय को पढ़ते रहिये ।