बेगूसराय में सड़कों की हालात को लेकर मंत्री गिरिराज सिंह हुए चिंतित, कहा – तीन बार कटाई और तीन बार खुदाई से पब्लिक भी परेशान

Giriraj Singh

न्यूज डेस्क : बेगूसराय जिले की सड़कों को लेकर स्थानीय सांसद व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह चिंतित हो उठे हैं। पिछले कई दिनों से अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा कर रहे केंद्रीय मंत्री सह बेगूसराय सांसद गिरिराज सिंह आज एक बार फिर अपने गुस्से को उस वक्त नहीं रोक पाए। जब वह जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति दिशा की बैठक में मौजूद थे । जिसमे डीएम से लेकर सभी विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे। गिरिराज सिंह की नाराजगी शहर से लेकर गांव तक के सड़कों की बेहाल हालात को लेकर थी। जहां विकास के नाम सड़कों को जहां तहां खोद कर छोड़ दिया गया है। बेगूसराय में जल-जीवन-हरियाली, नल-जल योजना और सीवरेज के नाम पर सड़कों की हालत बद से बदतर बन गयी है। जिसे लेकर आम लोगों में खासी नाराजगी भी देखी जा रही है।

बेगूसराय में शनिवार को कारगिल विजय सभा भवन में जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति दिशा बैठक में आयोजित की गयी जिसमें केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय के सांसद गिरिराज सिंह सहित सभी विधानसभा के विधायक सहित एमएलसी भी शामिल हुए। आज की इस बैठक में जिले के विकास से संबंधित योजनाओं की समीक्षा की गई। वही कई योजनाओं पर भी चर्चा हुई। इस दौरान जिला के सभी विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे। बैठक में शामिल गिरिराज सिंह ने अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हम कौन सी योजना बनाए। जब सड़क बन जाती है तो सीवरेज का काम किया जाता है।

जब सीवरेज का काम हो जाता है तो उसको भरने का काम किया जाता है। जब वो भी हो जाता है तब गैस कनेक्शन तो कही नल जल पाइप कनेक्शन का काम शुरू हो जाता है। लेकिन मेंटेनेंस का काम रुका हुआ रह जाता है। गिरिराज सिंह ने अधिकारियों से पूछा कि क्या हम डेढ़ साल दो साल के समग्र विकास की योजना नहीं बना सकते है। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि तीन बार कटाई और तीन बार खुदाई से पब्लिक भी परेशान है। चाहे वह शहर की जनता हो चाहे गांव की जनता सभी इस समस्या को झेल रहे हैं। इस मौके पर नगर विधायक कुंदन कुमार. बखरी विधायक सूर्यकांत पासवान, साहेबपुर कमाल विधानसभा के सदानंद संबुद्ध, तेघड़ा विधायक रामजतन सिंह, बछवाड़ा विधायक सुरेंद्र मेहता, चेरिया बरियारपुर विधानसभा के राजवंशी महतो और मटिहानी विधानसभा के राजकुमार सिंह मौजूद थे।

You cannot copy content of this page