बेगुसराय के मेडिकल छात्र शुभेंदु शुभम की कोरोना से गयी जान ! ले रखा गया था कोविड वैक्सीन का पहला डोज

Shivandu Shivam

डेस्क : कोरोना का वैक्सीन लेने के बाद संक्रमित होकर एनएमसीएच पटना के मेडिकल फाइनल ईयर के छात्र बेगूसराय निवासी शुभेंदु शुभम की मौत के बाद हड़कंप मच गया है। प्रशासनिक स्तर पर जहां निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत कार्रवाई की जा रही है। वहीं, आम जनों में चर्चा का विषय बन गया है कि आखिर वैक्सीन लेने के बाद फिर संक्रमण हो कैसे गया।

इस संबंध में डीएम अरविन्द कुमार वर्मा ने बताया कि मेडिकल के छात्र शुभेंदु शुभम का हॉस्टल में टेस्ट कराए जाने के दौरान रिपोर्ट पॉजिटिव आया था, संक्रमण का स्रोत पटना हॉस्टल है। हॉस्टल में रहने वाले अन्य छात्रों का भी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। घर पर आकर शुभेंदु एक दिन रुका ही था कि उसकी मौत हो गई। जिसके बाद कांटेक्ट रेसिंग कराया जा रहा है, परिवार के लोगों का आज पीसीआर टेस्ट कराया जा रहा है। इसके अलावा सिविल सर्जन को आसपास के पांच-छह घर में रहने वाले सभी लोगों का एंटीजन टेस्ट कराने का निर्देश दिया गया है। अगर कोई भी लोग संक्रमित पाए जाते हैं तो क्षेत्र को चिन्हित कर माइक्रो कंटेन्मेंट जोन बनाकर निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

अधिक बीमार होने पर शुभेंदु को बेगूसराय के जिस निजी अस्पताल में ले जाया गया था उस हॉस्पिटल के सभी स्टाफ की भी जांच कराई जा रही है। उल्लेखनीय है कि भगवानपुर प्रखंड के दहिया निवासी मंजेश रंजन का पुत्र शुभेंदु शुभम पटना के एनएमसीएच में एमबीबीएस 2016 बैच का छात्र था तथा एनएमसीएच के ओल्ड बॉयज हॉस्टल में रहता था। फरवरी के प्रथम सप्ताह में उसने कोरोना वैक्सीन ली थी, लेकिन 24 फरवरी को सर्दी खांसी होने पर पटना में ही जब जांच कराया गया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

इसी दौरान गांव जाने पर उसे होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई थी। लेकिन इसी बीच सोमवार की रात उसकी मौत हो गई। मौत के बाद पटना में उसके साथ रहने वाले मेडिकल छात्रों की जांच कराई गई तो कई छात्र पॉजिटिव निकले। इधर गांव में हुई मौत के बाद हड़कंप मच गया है। परिजन अपने इकलौते पुत्र को खोने के गम में बेहोश हैं। वहीं, प्रशासनिक स्तर पर प्रोटोकॉल के तहत कार्रवाई की जा रही है।

You may have missed

You cannot copy content of this page