बेगूसराय के जीडी कॉलेज में “स्नातक एडमिशन घपला” की बड़ी तैयारी , छात्र संघ के नेता ने लगाए गम्भीर आरोप

GD COLLEGE BEGUSARAI

न्यूज डेस्क : बेगूसराय में उच्च शिक्षा को लेकर साल दर साल छात्र हलकान होते रहते हैं। इस साल भी कमोवेश यही स्थिति उतपन्न हो गयी है । बताते चलें कि मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा ( LNMU) के पांच अंगीभूत व दो सम्बद्ध महाविद्यालय बेगूसराय में है। जबकि जिले के छात्रों को स्नातक में एडमिशन के लिए दर दर भटकना पर रहा है। विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा सेशन 20 – 23 के एडमिशन प्रक्रिया पूरी नहीं की जा सकी है। बताते चलें कि तीन बार जारी किए गए एडमिशन लिस्ट के एडमिशन होने के उपरांत विगत 11 फरबरी से कॉलेजों में बचे हुए सीटों पर स्पॉट एडमिशन ( spot admission ) किये जाने का पत्र विश्विद्यालय प्रशासन ने जारी किया था । वावजूद इसके आठ दिन बीत जाने के बाद किसी भी कॉलेज में स्पॉट एडमिशन शुरू नहीं हो सका है।

छात्र संघ के जीते हुए प्रतिनिधि ने कॉलेज प्रशासन पर लगाये गम्भीर आरोप बेगूसराय ही नहीं मिथिला विश्वविद्यालय ( LNMU ) के सबसे बड़े कॉलेज कैम्पस के छात्र प्रतिनिधि आदित्य कुमार ने कहा कि जी डी कॉलेज ( GD COLLEGE ) प्रशासन छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों को मुर्ख समझती है. महाविद्यालय प्रशासन के अनुसार सबसे ज्यादा बुद्धि उन्हीं लोगों के पास है.यहां पर गालियां बनती है भाइयों जहां एक और छात्र छात्राएं और अभिभावक परेशान हैं स्पॉट ऐडमिशन और विषय परिवर्तन के बाद स्नातक प्रथम खंड(2020-23) नामांकन लिस्ट आने को लेकर.

वही जीडी कॉलेज प्रशासन नामांकन लिस्ट अभी तक कॉलेज की वेबसाइट पर नहीं दिया है और दैनिक अखबार में छपवा दिया कि मेरिट लिस्ट अपलोड कर दिया गया है, कॉलेज की वेबसाइट पर और छात्र-छात्राएं अपना ऑनलाइन नामांकन 19 से 20 फरवरी तक करवा लें । अब ऐसे में बड़ा सवाल यह उठता है कि जब ऑनलाइन वेवसाइट पर मेरिटलिस्ट का प्रकाशन नहीं किया जा सका है । तो छात्र 19 और 20 फरबरी को कैसे एडमिशन ले पाएंगे । इस सम्बंध में कॉलेज प्रशासन से उनकी राय जानने की कोशिस की गई तो सम्पर्क नहीं हो पाया ।

जीडी कॉलेज में RTI कार्यकर्ता के पोस्ट नहीं होते रिसीव बीते दिनों एक आरटीआई एक्ट के तहत पोस्ट के माध्यम से जीडी कॉलेज सूचना पदाधिकारी को एडमिशन से सम्बन्धी जानकारी के लिए कुछ प्रश्न भेजे गए थे, लेकिन उस पोस्ट को रिसीव नहीं किया गया था । इस मामले में आरटीआई कार्यकर्ता सुमंत सिंह सुमन ने बताया कि विगत एक फरबरी को जीडी कॉलेज में हो रहे अवैध तरीके से नामांकन को उजाकर करने के लिए RTI लगाए । ताकि सारी जानकारी पब्लिस हो और नामांकन वैध तरीके से हो। लेकिन RTI पत्र डाकिया लेकर जब कॉलेज पहुची तो वहां के लोक सूचना अधिकारी लेने से मनाकर कर दिए और वो पत्र पुनः वापस सुमन के पास आ पहुँची।

इस मामला को लेकर सुमन्त ने जब GD कॉलेज के प्राचार्य से मिले तो प्राचार्य डॉ राम अवधेश ने बताया कि कोई अवैध नामांकन किसी हाल में नही होगा। सुमन्त ने मिलीभगत का आरोप लगाए उन्होंने कहा जी बच्चों को 75-85 प्रतिशत आंक है उनका नामांकन नही हो पा रहा लेकिन 50-55% वाले का नामांकन दाखिल किया गया। अब भी हजारो छात्र छात्रों स्नातक और स्नातकोत्तर में नामांकन से वंचित हैं जिनका भविष्य अंधेरा में नजर आ रहा। सुमन्त ने पुनः RTI के माध्यम से कॉलेज से सम्बंधित जानकारी मांगी है लेकिन कॉलेज प्रशासन जानकारी देने से मुकर रहे।

You cannot copy content of this page