बेगूसराय में बस से होती थी शराब की तस्करी, चालक एवं खलासी गिरफ्तार , इस क्षेत्र के महुआ शराब का खूब है डिमांड

BUS

न्यूज डेस्क : बेगूसराय में पुलिस ने शराब तस्करी के एक नयी तरकीब का भंडाफोड़ किया है। उक्त कार्रवाई जिले के चेरिया बरियारपुर थाना क्षेत्र में हुई है। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने रविवार को थाना क्षेत्र के विश्वकर्मा चौक चेरिया बरियारपुर से एक सवारी बस से 70 लीटर अवैध महुआ शराब के साथ बस के चालक एवं खलासी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबकि बस में मौजूद कारोबारी फरार हो गया।

इस क्षेत्र से महुआ शराब का खूब होती है डिमांड जानकार सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस क्षेत्र के महुआ शराब का डिमांड जिला मुख्यालय से लेकर पड़ोसी जिलों में है। प्रति दिन यहां से सैकड़ो लीटर महुआ शराब का खेप विभिन्न संसाधनों के माध्यम से तस्करी की जाती है। इसी कड़ी में की गई कार्रवाई में पुलिस को सफलता हाथ लगी है। उक्त बाबत थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु डीएसपी प्रभात रंजन ने बताया गुप्त सूचना के आधार पर की गई कार्रवाई में परिन्दा कम्पनी की यात्री बस से चालक के सीट एवं डिक्की से 70 लीटर महुआ शराब की बरामदगी हुई है। बस के चालक मुफस्लि थाना क्षेत्र के रजौड़ा निवासी भोला साह एवं खलासी खांजहांपुर निवासी नीरज कुमार की गिरफ्तारी हुई है। तथा बस को जप्त कर लिया गया है।

शराब के कारोबारी को चिन्हित कर लिया गया है। सनद हो अनुमंडल क्षेत्र में देशी एवं विदेशी शराब की बरामदगी से आम अवाम की अलग-अलग धारणाएं हैं। लोगों का कहना है कि सरकार के लाख प्रयास  के बावजूद भी अवैध रूप से देशी एवं विदेशी शराब के कारोबार पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। क्योंकि कांवर झील का परिक्षेत्र शराब कारोबारियों के लिए सेफ जोन बना हुआ है। जहां बड़े पैमाने देशी शराब का निर्माण किया जाता रहा है। आए दिन पुलिस ऐसे कारोबारियों पर नकेल कसती रही है। ऐसे एक दो नहीं बल्कि दर्जनों कारोबारी सलाखों के पीछे पहुंचाए जा चुके हैं। चेरिया बरियारपुर थाना में अवैध शराब  के मामले लगभग एक सौ की संख्या में अवैध करोबार एवं नशेङी के विरुद्ध मामला वीते तीन वर्षों में दर्ज है। लेकिन विदेशी शराब का खेप अनुमंडल क्षेत्र में कैसे पहुंच रहा है यह यक्ष प्रश्न बना हुआ है। वहीं कांवर के पचपन रही चौर में खुले में जलते दर्जनों चुल्हे खुलेआम चुनौती दे रही है।

You cannot copy content of this page