बेगूसराय में घर से क्रिकेट खेलने निकले युवक का अपहरण, फिरौती में 1 करोड़ की मांग

डेस्क : बिहार विधानसभा चुनाव खत्म होते ही अपराधियों ने फिर से तांडव मचाना शुरू कर दिया है। इस वक्त की सबसे बड़ी खबर बेगूसराय के गढहारा ओपी क्षेत्र के वार्ड सात से आ रही है। जहां बदमाशों ने एक स्वर्ण व्यवसायी के 16 वर्षीय पुत्र का अपहरण कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार अपहरणकर्ता कार सवार बदमाश थे । स्वर्ण व्यवसायी का पुत्र अपने घर से रविवार सुबह क्रिकेट खेलने जा रहा था । तभी घात लगाये किडनैपरों ने उसको किडनैप कर लिया।

बात यहीं नहीं रुकी बदमाशों के हौसले इतने बुलंद है कि किडनैप किये गए युवक के पिता से उसे छोड़ने के एवज में एक करोड़ रुपये फिरौती के तौर पर मांग की है। बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार ने भी फिरौती मांगे जाने की पुष्टि की है। वहीं उन्होंने बताया कि स्पेशल टीम का गठन किया गया है। इस घटना से आक्रोशित होकर आसपास के सभी ज्वेलरी व्यवसायियों ने दुकान को बंद कर रखा है। पीड़ित परिवार का कहना है कि लड़का सुबह क्रिकेट खेलने के लिए घर से निकला था लेकिन उसके बाद वह घर वापस नहीं पहुंचा है ऐसे में परिवार के लोगों ने उसको आसपास तलाशना चालू किया था।

परिवार ने लड़के की खोजबीन काफी देर तक की पर उनको नाकामयाबी हासिल हुई। ऐसे में उन्होंने थाने में सूचना दी और सुबह से लेकर अब तक का हाल पुलिस वालों को कह सुनाया। आपको बता दें कि अपहरण का शक भी बिल्कुल सही निकला और कुछ देर बाद परिवार वालों को उनके लड़के नाम मोहित के मोबाइल से फोन आया और किसी बॉलीवुड फिल्मी अंदाज में कहा गया कि अपना लड़का वापस चाहते हो तो एक करोड़ों रुपए का इंतजाम कर लो।

यह सूचना परिवार वालो ने तुरंत पुलिस को दी और फिर पुलिस वालों ने तुरंत एक्शन लेते हुए टीम का गठन किया और इलाके में छापेमारी चालू कर दी है। पुलिस प्रशासन ने परिवार वालों को यह आश्वासन दिया है कि जल्द ही वह अपहरणकर्ताओं को पकड़ लेंगे। बता दें तीन चार दिन पहले ही एक छोटे बच्चे की लाश पाई गई थी जिसकी उम्र मात्र 2 वर्ष की थी वह छठ पूजा के महापर्व पर अपनी नानी के घर आया था। ऐसे में वह भी सुबह खेलने के लिए निकला था लेकिन लापता हो गया और 2 दिन के बाद शाम के वक्त उसकी लाश एक पानी के खड्डे से मिली जिस पर टेप से मुंह बांधे जाने के निशान थे और नाक से खून भी निकला था। यह दोनों घटनाएं गढ़हरा थाना क्षेत्र की है जहां पर यह अपराधिक घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती नजर आ रही हैं ऐसे में प्रशासन किस तरह से इन अपराधिक घटनाओं को काबू कर पाएगा वह समय रहते देखना बाकी है।