कावर झील पक्षी बिहार क्षेत्र में मेहमान पक्षियों का हो रहा है शिकार, वनकर्मियों ने जाल किया बरामद

Kanwar Lake

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : बेगूसराय में इनदिनों कावर झील से शिकार किये जा रहे मेहमान पक्षी शिकारियों द्वारा धररले से बेचे जा रहे हैं। देश विदेश से पहुंचने बाले प्रवासी पक्षियों की अवैध शिकारमाही के मद्देनजर वन विभाग ने काबर झील क्षेत्र मे इन दिनों गश्ती अभियान बढ़ा दी है। काबर झील क्षेत्र के परोड़ा डोभ मे पक्षियों के अवैध शिकारमाही के लिए बांस-बल्ला गाड़कर बिछाए गए जाल को बरामद किया है। गश्ती अभियान वनरक्षी मुकेश कुमार एवं नीतीश कुमार के नेतृत्व में चलाया गया. जहां परोड़ा डोभ में अवैध शिकारमाही के लिए लगाए गए जाल को देखा.

हालांकि इस दौरान वनकर्मियों के द्वारा शिकारी को पकड़ने के लिए जबरदस्त प्रयास किया गया. परंतु शिकारी अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल हो गए. वहीं वनकर्मियों के द्वारा जाल बिछाने में प्रयुक्त बांस बल्ला को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. वनों के क्षेत्र पदाधिकारी (रेंजर) उमाशंकर राय ने बताया बल की कमी के कारण काबर के दुर्गम क्षेत्र मे नजर रखने मे परेशानी हो रही है. इसकी सूचना वरीय अधिकारी दी गई है. शिकारमाहियों की धर पकड़ के लिए गश्ती अभियान को तेज किया जाएगा. विदित हो कि ठंड के प्रारंभ होते ही अक्टुबर-नबंवर मे बड़ी संख्या साइवेरिया, मंगोलिया, चीन से प्रवासी पक्षियां काबर झील क्षेत्र मे डेरा डालते हैं. जो इन दिनों पर्यटको को लुभाती हैं.

लेकिन स्वादिष्ट मांस के शौकीन लोगों की चाहत मे चोरी-छुपे इन पक्षियों का शिकार इन महीनों मे होता रहा है. इस वर्ष भी मेहमान पक्षियों के शिकार का सिलसिला जारी है. हालांकि वन विभाग की चौकसी इनके मनसूबों पर तत्काल पानी फेर दिया है. लेकिन काबर की बनाबट का फायदा उठाकर शिकारी बेजुबान पक्षियों पर कहर बरसाने से बाज़ नहीं आ रहे हैं. रेंजर ने बताया बरामदगी दल मे वन कर्मी मुन्ना सिंह, दिवाकर कुमार उर्फ मंगल सिंह, प्रमोद कुमार, मनोज रजक सहित अन्य मौजूद थे.

You may have missed

You cannot copy content of this page