72 वें गणतंत्र दिवस पर बोले कन्हैया कुमार , बेहतर भारत से ही होगा बेहतर दुनिया का निर्माण

Kanhaiya Kumar

न्यूज डेस्क, बेगूसराय : जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और कम्युनिस्ट नेता डॉ. कन्हैया कुमार ने एक बार फिर गणतंत्र दिवस के मौके पर लोगों से संविधान की रक्षा की अपील की है। उन्होंने गणतंत्र दिवस की शुभकामना देते हुए जय जवान, जय किसान, जय संविधान का नारा बुलंद किया है।

कन्हैया ने मंगलवार को कहा है कि हमें ना सिर्फ अपने संविधान का गहन अध्ययन करना चाहिए, बल्कि इसके मूल्यों को समझते हुए, अपने अधिकारों को जानते हुए, अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करना चाहिए। आज के दौर में संवैधानिक मूल्यों को स्थापित करके ही हम सही रूप में गणतंत्र दिवस को मना सकते हैं। आज जिस तरीके से संविधान और गणतंत्र के ऊपर हमला हो रहा है, हमें अपने संविधान की रक्षा करना होगा और संविधान के रास्ते पर चलकर ही बेहतरीन गणतंत्र का निर्माण हो सकता है। हमें यह जानकर खुशी होना चाहिए कि हमारा संविधान दुनिया के बेहतरीन संविधानों में से एक है।

हमारे संविधान के जो मूल्य हैं, जिसके प्रस्तावना में एक-एक शब्दों को बहुत ही शानदार तरीके से रखा गया है। इन शब्दों को अक्षरस: समाज में लागू करके, चाहे वह धर्मनिरपेक्षता की बात हो, समाजवाद की बात हो, स्वतंत्रता, समानता और न्याय की बात हो, इन मूल्यों को स्थापित करके ही हम बेहतरीन भारत का निर्माण कर सकते हैं। कन्हैया ने कहा कि इस दौर में संविधान के ऊपर जो हमला बढ़ा है, उन हमलों को रोकते हुए बेहतरीन गणतंत्र के निर्माण के लिए हम तमाम देशवासियों को एकजुट होकर ना सिर्फ संविधान की रक्षा करनी चाहिए।

बल्कि इसके रास्ते पर चलकर एक बेहतर भारत का निर्माण करना चाहिए। बेहतर भारत से ही बेहतरीन दुनिया का निर्माण हो सकता है। आज वह मौका है कि भारत अपने संविधान की रक्षा करते हुए, इन रास्तों पर चलकर दुनिया में एक बेहतरीन गणतंत्र का उदाहरण प्रस्तुत कर सकता है।

You may have missed

You cannot copy content of this page