बेगूसराय के हेल्थ व्यवस्था के इंफ्रास्ट्रक्चर को सुदृढ करेगा IOCL , केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गिरिराज सिंह के साथ की बैठक

IOCL Begusarai

न्यूज डेस्क : बेगूसराय के स्थानीय सांसद व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बेगूसराय के लोगों को अब जिले बाहर इलाज के लिए नहीं जाना पड़ेगा । उन्होंने गुरुवार को ट्वीट कर यह कहा कि केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जी का आभार,उन्होंने हमारे निवेदन पर बेगूसराय में पहले से चल रही स्वास्थ्य सेवाओं और बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में मदद की है, यह आने वाले समय में किसी भी तरह की महामारी से लड़ने में काफी कारगर साबित होगा और जिलेवासियों को जिले से बाहर नहीं जाना पड़ेगा।

दरअसल बेगूसराय में कोविड प्रबंधन एवं दीर्घकालिक स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास के साथ तीसरी लहर की आशंका से पुर्व विशिष्ट पैडियोटरिक अस्पताल,आक्सीजन टैंक, उत्पादन एवं अन्य सुविधाओं के बारे में सांसद सह केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पहल किया है। गुरुवार को केन्द्रीय मंत्री सह सांसद गिरिराज सिंह ने बेगूसराय जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास तथा कोविड मैनेजमेंट को लेकर वर्चुअल मीटिंग की है।

इस बैठक में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान आईओसीएल के चेयरमैन,जिलाप्रशासन तथा बरौनी रिफाइनरी की ईडी शामिल हुईं। मिली जानकारी के मुताबिक कोरोना कालखंड में बेगूसराय में स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास एवं कोविड-19 को लेकर आयोजित इस बैठक में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के आग्रह पर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आई ओ सी एल के चेयरमैन को निर्देश दिया कि बेगूसराय के तेघड़ा में एक सौ बेड का कोविड-19 हॉस्पिटल ऑक्सीजन पाइप लाइन सहित जल्द उपलब्ध करा दिया जाए। जिसकी अनुमानत लागत एक करोड़ 34लाख रुपये की आंकी गयी।

सदर अस्पताल में आईओसीएल के द्वारा कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर 50 बेड का आधुनिक सुविधाओं से युक्त बच्चों का कोविड-19 हॉस्पिटल बनकर तैयार होगा। जिसमें ऑक्सीजन पाइप लाइन लगे होंगे तथा आपदा की स्थिति में उसके साथ आधुनिक सुविधाओं से युक्त दो एंबुलेंस की भी व्यवस्था होगी। इस बच्चों के विशिष्ट अस्पताल में आक्सीजन जेनरेशन प्लांट, गर्म पानी की सुविधा, पार्किंग सुविधा, मरीजों का प्रतिक्षालय भी शामिल होगा।

यह बिहार में पहला पैडियोटरिक अस्पताल होगा। इसी प्रकार 10 करोड़ की लागत से 1500 सिलेंडर प्रतिदिन रिफिलिंग की क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट सितंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा और स्थानीय रिफाइनरी प्रशासन उसे जिला प्रशासन को सुपुर्द करेगा । बरौनी रिफाईनरी तत्काल 1000 सिलेंडर जिला प्रशासन को सुपुर्द करेगा जिससे आपदा में इसका उपयोग किया जा सके।बलिया रेफरल हॉस्पिटल को अत्याधुनिक बनाने में भी बरौनी रिफायनरी अपना योगदान देगा इसके अतिरिक्त बेगूसराय सदर बलिया एवं तेघड़ा में ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट लगेगा जिसकी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने बेगूसराय को पांच क्रायोजेनिक आक्सीजन टेंकर देने की घोषणा की । केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना से निबटने में बेगूसराय को आईओसीएल की तरफ से स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास के लिए दिया जाने बाला बड़ी मदद साबित हो सकता है।उन्होंने बेहतर कोर्डिनेशन के लिए जिला प्रशासन का भी धन्यवाद किया। बैठक की जानकारी देते हुए सांसद प्रतिनिधि अमरेंद्र कुमार अमर ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह शुरू से ही जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए संवेदनशील रहे हैं, तथा अब इन उपायों से बेगूसराय स्वास्थ्य प्रबंधन में प्रदेश का अव्वल जिला हो जाएगा।उन्होंने कहा कि सांसद जबतक योजना कार्यरूप लेने तक प्रयत्नशील रहते हैं जिसका यह सुखद परिणाम है।

You cannot copy content of this page