बेगूसराय में पागल गीदड़ ने गाँव में घुसकर मचाया आतंक , 7 ग्रामीण समेत 10 जानवर घायल

बेगूसराय : बेगूसराय के छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के एजनी पंचायत के वार्ड नंबर 8 एवं 11 में सोमवार की दोपहर से एक पागल गीदड़ ने आतंक मचा रखा है। अब तक गीदड़ के हमले से सात ग्रामीण समेत 10 जानवर गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। सभी घायलों का इलाज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। वही मवेशियों का इलाज सरकारी पशु चिकित्सक के गायब रहने से नहीं हो सका।

घायलों का इलाज कराने पहुंचे दानिश समाजसेवी दानिश आलम ने बताया कि दोपहर अचानक गीदड़ के एक झुंड ने वार्ड नंबर 8 में अपने घर पर बैठे लोगों पर आक्रमण कर दिया। जब तक लोग कुछ समझ पाते तब तक गीदड़ तीन लोगों को काटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। उनको बचाने आए ग्रामीण पर भी गीदड़ ने आक्रमण कर जगह-जगह से शरीर को काट खाया। गीदड़ के हमले से अरफातरफी मच गई। लोग अपने अपने घरों में बंद हो गए। ग्रामीणों के दरवाजे पर बंधे मवेशियों पर भी गीदड़ ने हमला बोल दिया।

गीदड़ के काटने से घायल हुए एजनी पंचायत के वार्ड नंबर 8 निवासी भोला साह, प्रदीप दास ,नाथो साह, कैलाश मल्लिक, अनील कुमार, वार्ड 11 निवासी मोहम्मद मंजूर और मजीदा खातून का पीएचसी छौड़ाही में चिकित्सा पदाधिकारी डॉ कमलेश कुमार ने इलाज किया एवं एंटी रेबीज सुई लगाया। बताया कि सभी घायल खतरे से तत्काल बाहर है। परंतु, नियमित इलाज की आवश्यकता है।

दूसरी तरफ गीदड़ के हमले से एजनी निवासी राजेंद्र दास, मितन साह, हरेराम पंडित,भातू रजक, मनोज पंडित,कप्पल दास, रंजीत साह मनोज यादव आदि लोगों के गाय एवं भैंस गंभीर रूप से घायल हो गए। गीदड़ के काटने का इलाज प्राइवेट चिकित्सकों के पास नहीं रहने के कारण मवेशी पालक इलाज के लिए सरकारी डॉक्टर के पास छौड़ाही पहुंचे तो कार्यालय बंद था। सरकारी पशु चिकित्सक का मोबाइल भी बंद था। ऐजनी के पूर्व मुखिया जमशेद आलम समाजसेवी दानिश आलम आदि ने घायल मवेशियों के इलाज के लिए अविलंब पशु चिकित्सक भेजने की मांग जिला पशुपालन पदाधिकारी से की है।