बड़ी खबर : देश की सेवा में बेगूसराय के लाल ने जम्मू कश्मीर में दी सर्वोच्य सहादत

Rishi Ranjan Begusarai Indian Army

डेस्क : इस वक्त की सबसे बड़ी खबर जम्मू कश्मीर से आ रही है। जहां देश की सेवा में बेगूसराय के लाल ने सर्वोच्य शहादत दी है। बेगूसराय के जीडी कॉलेज के समीप मोहल्ले के निवासी राजीव रंजन सिंह के पुत्र ऋषि रंजन (Rishi Ranjan Begusarai ) ने मातृभूमि की सेवा में अपनी जान की बाजी लगा दी । बताते चलें कि वह लेफ्टिनेंट पद पर कार्यरत थे।

उनकी आयू महज 23 वर्ष की थी । इधर बेगूसराय में सहादत की सूचना मिलते ही परिजनों का हाल बेहाल हो गया है। वे लखीसराय के पिपरिया के मूल निवासी थे। बेगूसराय में बसे राजीव रंजन जी के लेफ़्टिनेंट पुत्र ऋषि रंजन J&K में शनिवार को शहीद हो गए । यह क्षण पूरे परिवार व क्षेत्र के लिए बहुत पीड़ा दायक है, उनकी बहादुरी को बेगूसराय व देश सलाम कर रहा है। शहादत की बात सुनते ही बेगूसराय वासियों की आंखें नम हो गई। अपने वीर पुत्र की वीरता पर हर देशवासियों का सर गर्व से ऊंचा हो रहा है। बताते चलें कि शहीद ऋषि रंजन अपने मां-बाप के इकलौते पुत्र थे।

वे जदयू नेता सह बस आनर सुदर्शन सिंह के भांजे थे । बेगूसराय के इस इकलौते की वीर पुत्र की शहादत पर हर जिला वासी की आंखें नम है। वहीं दूसरी तरफ से सीना फक्र से चौड़ा हो रहा है।

ऐसे हुए शहीद लेफ्टिनेंट ऋषि रंजन कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास शनिवार दोपहर एक लैंडमाइन ब्लास्ट में सेना के अधिकारी व बेगूसराय के लाल ऋषि रंजन शहीद हो गए । ऋषि जवान के साथ राजौरी जिले के नौवेशरा के लाम सेक्टर में कलाल एरिया पर सेना के जवान गश्त कर रहे थे। इसी नियमित गश्त के दौरान नियंत्रण रेखा के पास एक लैंडमाइन विस्फोट हो गया । तभी सेना के जवान अचानक हुए इस ब्लास्ट की चपेट में आ गए। बताते चलें कि इस घटना में एक लेफ्टिनेंट और चार जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया । जहां इलाज के दौरान लेफ्टिनेंट की मौत हो गई।

You may have missed

You cannot copy content of this page