बेगूसराय में किसान की गेंहू खरीदने में सहकारिता विभाग के छुट रहे पसीने, सांसद गिरिराज सिंह ने विभागीय मंत्री को लिखा पत्र

Wheat

न्यूज डेस्क : बिहार भर में सरकार के द्वारा 15 जून तक गेंहूँ की सरकारी दर पर खरीद किया जाना है। राज्य भर में गेंहू खरीद को लेकर सरकारी दावे और जमीनी हकीकत में काफी कुछ अंतर है। राज्य में तो कई जिले में गेंहूँ खरीद की स्थिति अत्यंत ही दयनीय है। बेगूसराय में भी अभी तक तय लक्ष्य के विरुद्ध मात्र 30 % की ख़रीद हो पाई है। कई प्रखण्ड में दर्जनों गांव ऐसे हैं जहां एक भी किसान से गेंहूँ की खरीद नहीं हो पायी है। ऐसे में किसानों के सामने गेंहूँ बेचने को लेकर पशोपेश की स्थिति है। किसान बिचौलियों के हाथों अपने मेहनत की कमाई औने पौने दाम में बेचने को मजबूर हैं । जिले के अधिकांश प्रखंडों में सहकारिता विभाग का गैर जिम्मेदाराना रवैया सरकार के द्वारा किसान की लेकर संवेदनशील होने पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करने लगा है।

केंद्रीय मंत्री ने बिहार सरकार के सहकारिता मंत्री को लिखा पत्र : बेगूसराय के सांसद सह केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बिहार सरकार के सहकारिता मंत्री सुभाष सिंह को पत्र लिखकर किसानों की समस्या के समाधान करने को कहा है। उन्होंने कहा कि संसदीय क्षेत्र भ्रमण के दौरान मेरे संज्ञान में आया है कि बेगूसराय जिले में गेहूँ अधिप्राप्ति की रफ्तार काफी धीमी है जहाँ किसान अपने गेहूँ, पैक्स के माध्यम से नहीं दे पा रहें हैं। बेगूसराय जिले के लिए निर्धारित 49700 MT के लक्ष्य के विरूद्ध अबतक मात्र 17862 MT गेहूँ की ही अधिप्राप्ति हो सकी है। साथ ही बेगूसराय में भंडारण हेतु एसएफसी के गोदाम की क्षमता भी केवल 9900 MT ही है। अतः इन परिस्थितियों में बेगूसराय के गेहूँ उत्पादक किसानों के सामने एक बड़ी समस्या है। इस संबंध में आपसे आग्रह है कि किसानों के हित में व्यक्तिगत रूचि लेते हुए, गेहूँ की अधिप्राप्ति के निर्धारित लक्ष्य 49700 MT को बचे समय में पूर्ण करने एवं अधिक अधिप्राप्ति सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश जारी करवाने का कष्ट करें।

सदर प्रखंड के किसानों का हाल है बेहाल , डीएम से करेंगे शिकायत बेगूसराय सदर प्रखंड के रचियाही पंचायत के 35 किसान ने गेंहू के बिक्री के लिए ऑनलाइन अप्लाई किया था। जिसमे से अभी तक एक भी किसान से गेहूं की खरीद नही हुआ है। रचियाही के आकाशपुर के रामानंद सिंह के पुत्र किसान गंगेश सिंह कहते हैं कि, आज वो अपने वाहन से गेहूं 104 पैक ले जाने के बाद और मिन्नत करने के बाद भी गेंहू भैरवार पैक्स गोदाम से लौटा दिया गया है। वही किसान रणधीर कुमार कहते हैं की हम जब इस बात को वरीय अधिकारी को बताना चाहा तो मुझे गोल मटोल जबाब देने लगे कि गोदाम में अपना जुट बैग में पैक करके लाएंगे। तब चेक कर के हम गेंहू लेंगे।

वही अन्य किसान जब इस बात को लेकर वरीय अधिकारियों से बात करना चाहा तो उनका फोन रिसीव नही हुआ। अब ग्रामीण जल्द ही जिला अधिकारी से मिलकर अपने बात को उठाने की बात कह रहे हैं। सभी किसानों का कहना है कि भैरवार पैक्स के तरफ़ से भी सकारात्मक पहल नही की जा रही है जिससे किसानो में मायूसी है। सामाजिक कार्यकर्ता सौरभ सिप्पी ने किसानों की मांग को लेकर जिलाधिकारी, बिहार सरकार के मंत्री व उच्चाधिकारियों से शिकायत करने की बात कही है। साथ ही कहा कि सरकार की मंशा पर चंद अधिकारी पानी फेरने में लगे हुए हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page