बेगूसराय में दहेज लोभियों ने ली महिला की जान , मायके वालों ने लगाया आरोप , मात्र 20 हजार ..

बेगूसराय : बेगूसराय जिले के खोदाबन्दपुर से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है। जहां थाना क्षेत्र के फफौत पंचायत के चकवा गांव में एक महिला की मौत संदिग्ध हालत में हो गई। मृतक महिला चकवा गांव के पप्पू दास की 25 वर्षीया पत्नी गीता देवी है। पुलिस ने मृतका की लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बेगूसराय भेज दिया है।

ससुराल पक्ष के लोग घर से फरार हैं।जबकि मृतका के नैहर वालों ने दहेज की बक़ाई राशि नहीं देने पर गला दबाकर उसकी बेटी की हत्या कर देने का आरोप ससुराल वालों पर लगाया है। मृतका के पिता समस्तीपुर जिला के माहे सिंहिया थानाक्षेत्र के अंतर्गत सिवइयां गांव के नन्दन दास ने पुलिस को बताया है कि उसकी बेटी गीता की शादी तीन वर्ष पहले खोदावंदपुर प्रखंड के चकवा गांव के पप्पू दास के साथ हुई थी।शादी के समय 40 हजार रुपए दहेज के रूप में दिए थे। और 20 हजार रुपए की मांग ससुराल वालों द्वारा की जा रही थी।

अत्यंत गरीब होने के कारण वह बकाया रुपया नहीं दे सका था।जिसके चलते उसकी बेटी को ससुराल वाले अक्सर प्रताड़ित करते थे।बराबर मारपीट भी करते थे।मंगलवार की रात्रि इन लोगों ने उसकी बेटी को गला दबाकर मार दिया। मृतका को दो छोटे छोटे बच्चे हैं। जिनमें दो वर्ष का आदित्य एवं छह माह का आर्यन शामिल है। महिला की मौत से उसके मायके के परिजनों में चीख पुकार मची हुई है।

पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है।मृतका के ससुराल पक्ष के लोगों का घटना के बाद फरार हो जाना शंका पैदा करता है और मृतका के नैहर वालो द्वारा लगाया जा रहा हत्या के आरोप को बल मिलता है। थानाध्यक्ष दिनेश कुमार ने घटना की पुष्टि किया है। उन्होंने बताया कि मृतका के परिजनों द्वारा कोई लिखित आवेदन नही दिया गया है। आवेदन मिलने पर यथोचित कार्रवाई किया जा रहा है।फिलवक्त पुलिस अपने जांच में जुटी हुई है