Friday, July 12, 2024
Begusarai News

बेगूसराय में महिला को बेटे की फर्जी अपहरण की सुचना देकर , जालसाजों ने ले ली एक लाख रुपए फिरौती

साइबर अपराध से बचने के लिए सरकार एवं पुलिस तरह-तरह के नुस्खे नसीहतों को लोगों के बीच बता रही है। बावजूद इसके जिले में साइबर अपराध रूकने का नाम नहीं ले रही है।साइबर फ्रॉड की घटना दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है। पुलिस की ओर से बार-बार जागरूक करने के बावजूद लोग परिस्थितिवश अपराधियों के जाल में फंस जाते हैं। साइबर फ्रॉड का एक मामला बेगूसराय साइबर थाने में आया है। साइबर फ्रॉड करने वालों ने पचम्बा निवासी संतोष कुमार की पत्नी को फोन कर कहा कि आपका बेटा किडनैप हो गया।

तुरंत 1 लाख रुपए मेरे खाते में भेजो नहीं तो बेटे से हाथ धो बैठोगी। महिला ने बिना किसी छानबीन के भेजे गए मोबाइल नंबर पर तुरंत 1 लाख रुपए भेज दिए। बाद में परिवार वालों को पता चला कि बेटा सकुशल है और उसे किसी ने नेप नहीं किया है। संतोष कुमार ने पुलिस को बताया कि बेटा पुणे में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करता है। फर्स्ट ईयर की परीक्षा देने के बाद छुट्टी में घर आया है। सोमवार को वह पचम्बा से फुआ के घर हर्रख गया था। इसी दौरान दोपहर करीब 3 से 4 बजे 7250517683 नंबर से फोन आया।

फोन करने वाले ने कहा कि बेटा किडनैप हो गया है। तुरंत मेरे इस मोबाइल नंबर पर 1 लाख रुपए भेजो, नहीं तो बेटे को गोली मार देंगे। पत्नी ने बिना कुछ सोचे- समझे 1 लाख रुपए (25-25 और 50 हजार करके तीन बार में) पे फोन से भेज दिया। संतोष ने बताया कि रुपए ट्रांसफर करने के बाद पत्नी रोने-धोने लगी। मामले का पता चला तो बेटे की खोजबीन शुरू की। बेटे को फोन किया तो उसने कहा मैं ठीक हूं। वह रास्ते में है और पचम्बा आ रहा है।

पीड़ित संतोष कुमार ने साइबर थाना प्रभारी से ठगी गए रुपए वापस करवाने की मांग की है। थाना प्रभारी ने कहा कि पीड़ित परिवार के किसी भी सदस्य ने फोन आने के तुरंत बाद हर्रख बात कर ली होती तो ठगी के शिकार नहीं होते। पीड़ित संतोष कुमार ने साइबर पुलिस को बताया कि जब पे फोन से ट्रांसफर डिटेल को खंगाला तो पता चला कि रुपए सहरसा लाइट हाउस के खाते में गया है। इसके बाद जब मोबाइल नंबर 7250517683 पर बात की गई तो उसने कहा कि मैं महमूद बोल रहा हूं, आपने गलत नंबर डायल किया है। इसलिए जब भी अनजान नंबर से इस तरह का कॉल आए और धमकी वाली बात कहे तो इसे परिजनों से शेयर करें। खुद के स्तर से पता लगाएं। पुलिस को तत्काल घटना की जानकारी दें।