बेगूसराय में एक बार फिर मानवता शर्मसार वहशी युवक ने पांच साल की मासूम बच्ची के साथ किया दुष्कर्म

Attempt to Rape

न्यूज डेस्क : बेगूसराय के छौड़ाही ओपी क्षेत्र के एक गांव में एक वहशी युवक ने पांच साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। बालिका की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। वहीं घटना के तीन दिन बाद भी छौड़ाही पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज नहीं की जक सकी है। शुक्रवार को दुष्कर्म पीड़िता मासूम बच्ची के साथ छौड़ाही ओपी पहुंच ओपी अध्यक्ष से प्राथमिकी दर्ज करने की गुहार लगा रहे स्वजनों पर पत्रकारों की नजर पड़ी तो मामला संज्ञान में आया। छौड़ाही ओपी से मात्र 500 मीटर दूर बालिका के साथ इस जघन्य घटना होने एवं छौड़ाही ओपी अध्यक्ष द्वारा तीन दिन तक जानकारी नहीं होने की बात लोगों को पच नहीं रही है। वहीं एक माह के अंदर दूसरी बार पांच वर्षीय मासूम बालिका के साथ जघन्य घटना के बाद स्थानीय ग्रामीणों में पुलिस प्रशासन एवं कर्मियों के विरुद्ध काफी आक्रोश देखा जा रहा है।

रात को आई चिल्लाने की आवाज तो दौरे दौरे पहुंचे स्वजन इस संदर्भ में दुष्कर्म पीड़िता बच्ची के माता और दादा ने बताया कि छौड़ाही ओपी क्षेत्र के ऐजनी पंचायत के एक गांव में वह घर बनाकर स्थाई रूप से रहते हैं। पुराने घर से कुछ दूर मवेशियों के लिए एक घर बनाए हुए हैं। विगत 17 अगस्त को नित्य दिन की तरह पांच वर्षीय बच्ची को पुराने घर के अंदर सुला बाकी स्वजन डेरा पर सोने चले गए थे । रात 10:00 बजे उनकी पोती के जोर जोर से चिल्लाने की आवाज आई। जिसे सुन वह दौड़े-दौड़े पुराने घर पहुंचे। जहां बच्ची की चीख सुनकर अन्य ग्रामीण भी मौजूद हो गए थे। सभी लोग घर के अंदर गए तो एक युवक जो ऐजनी वार्ड नंबर आठ निवासी उपेंद्र दास का 19 वर्षीय पुत्र शंकर दास घर के अंदर से तेज गति से दौड़ता हुआ बाहर की ओर भागा।

ग्रामीणों ने उसे पकड़ना चाहा लेकिन वह चकमा देकर अंधेरे का लाभ उठा फरार हो गया। जब घर के अंदर गए तो उनकी पांच वर्षीय पोती बेहोश पड़ी थी। बच्ची के शरीर पर खून ही खून था। बालिका को ग्रामीणों के सहयोग से उठा कर तुरंत निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म होने की बात कही। वहीं बच्ची के प्राइवेट पार्ट को क्षतिग्रस्त कर देने की बात भी डॉक्टरों ने बताई। इसके बाद दुष्कर्म पीड़िता के स्वजनों ने छौड़ाही पुलिस को सूचना दी कि उनके पड़ोसी वहशी युवक शंकर दास ने मासूम बालिका के साथ दुष्कर्म का किया है। वहीं पकड़े जाने के भय और बालिक के हत्या करने के उद्देश्य से उसके प्राइवेट पार्ट को धारदार हथियार से क्षतिग्रस्त कर दिया है। बच्ची की स्थिति अभी भी गंभीर बनी हुई है। दूसरी तरफ ग्रामीणों का कहना था कि 17 अगस्त को की रात या घटना हुई है। उसके बाद तीन दिन तक थाना के खासमखास कुछ लोग दुष्कर्म पीड़िता के स्वजन को मुकदमा नहीं करने, इससे बदनामी होने एवं कुछ रुपए लेकर मामला रफा-दफा कर देने का दबाव बनाते रहे। कई बार पंचायती भी हुई। लेकिन दुष्कर्म पीड़िता मासूम बच्ची के स्वजनों के दृढ़ता के बाद छौड़ाही पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है।

एक महीने के भीतर दूसरी घटना मालूम हो कि विगत 21 जुलाई 21 को छौड़ाही ओपी क्षेत्र के एक गांव में 5 वर्षीय बालिका के साथ 25 वर्षीय युवक ने अपने विवाह के पहले वर्षगांठ के दिन ही दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। उसकी हत्या करने के उद्देश्य से प्राइवेट पार्ट को भी क्षतिग्रस्त कर दिया था। एक माह के अंदर मासूम बालिका के साथ वहशी युवकों द्वारा बेखौफ होकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने से प्रखंड वासी दहशत में आ गए हैं। अपने बच्चियों को अकेले भेजने से डर रहे हैं। प्रखंड वासियों ने दुष्कर्मी के गिरफ्तारी स्पीडी ट्रायल चला सजा दिलाने की मांग की है।

कहते हैं ओपी अध्यक्ष : इस संदर्भ में छौड़ाही ओपी अध्यक्ष राघवेंद्र कुमार का कहना है कि दुष्कर्म पीड़िता बालिका के साथ उनके स्वजन थाना आए हैं। लिखित आवेदन प्राप्त होते ही प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई प्रारंभ कर दी जाएगी।

You cannot copy content of this page