अच्छी खबर : 1900 से अधिक प्रवासी श्रमिकों को जिले में उनके कौशल के आधार पर मिल रहा राेजगार

डेस्क : कोरोना संकट के दौरान दूसरे प्रदेशों से बिहार आने वाले मजदूरों के लिए मनरेगा बड़ा सहारा बन गया है। अनलॉक मे लोगों की दिनचर्या समान्य होते दिख रही है। सभी प्रवासी श्रमिकों को जिले में ही उनके कौशल के आधार पर रोजगार देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने हेतु जिला प्रशासन लगातार कोशिश कर रही है।

हुनर/कौशल के अनुरूप मजदूरों को दिया जा रहा काम : जिला पदाधिकारी श्री अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर लागू लॉकडाउन अवधि में दूसरे राज्यों से बेगूसराय वापस लौटे श्रमिकों को उनके हुनर/कौशल के अनुरूप रोजगार उपलब्ध कराने हेतु जिला प्रशासन लगातार प्रयासरत है तथा इस क्रम में विभिन्न रोजगार अवसरों के सृजन किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि वापस लौटे ऐसे श्रमिकों में से अब तक 1,964 इच्छुक श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है।

प्रवासियों के लिए मनरेगा बना सहारा : आपको बता दे इसमें मनरेगा के तहत 1,601, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा क्रियान्वित हर घर नल का जल योजना से संबद्ध कार्यों में 271, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड परियोजना, बरौनी रिफाइनरी में 50, ग्रामीण कार्य विभाग, कार्य प्रमंडल बलिआ में 06 तथा पथ निर्माण विभाग में 36 श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। दूसरे राज्यों से वापस आए अब तक 4,602 इच्छुक श्रमिकों को मनरेगा जॉब कार्ड भी निर्गत किया गया।

गौरतलब है कि आपदा प्रबंधन विभाग, बिहार द्वारा कोविड-19 के दौरान राज्य के बाहर से आए कुशल/अकुशल श्रमिकों का विभाग के पोर्टल https://covidportal.bihar.gov.in निबंधन किया जा रहा है। इस पोर्टल पर बेगूसराय जिले के अब तक 26,484 कुशल/अकुशल श्रमिकों का डाटा दर्ज किया गया है। ध्यातव्य हो कि सड़क एवं पुल निर्माण का अनुभव रखने वाले राज्य के बाहर से आए हुए श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग, बेगूसराय के कार्यालय में दिनांक 27 जून, 2020 को विशेष काउंसलिंग शिविर का आयोजन किया गया है।

इन कार्यों में कुशल कोई श्रमिक यदि रोजगार प्राप्त करने के इच्छुक हैं तो कार्यपालक अभियंता, पथ प्रमंडल, बेगूसराय से संपर्क कर सकते हैं ताकि उनकी योग्यता एवं अनुभव के आधार पर जिले में चल रही महत्वपूर्ण परियोजनाओं में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराया जा सके। इस संबंध में विशेष जानकारी के लिए विभाग द्वारा जारी दूरभाष संख्या 9470001331 पर भी संपर्क किया जा सकता है।