लॉकडाउन में लौटे प्रवासी श्रमिकों के लिए अच्‍छी खबर जिला प्रशासन इन क्षेत्रों में देगी काम

बेगूसराय : दूसरे राज्यों से लौटे प्रवासी मजदूरों को जिले में ही रोजगार देने के लिए जिला प्रशासन ने कार्ययोजना योजना भी तैयार कर ली है। बुधवार को जिला पदाधिकारी अरविंद वर्मा की अध्यक्षता में बुधवार को कारगिल विजय सभा भवन में जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना की समीक्षात्मक बैठक की गई जिसमें उन्होंने इस योजना के तहत किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नवप्रर्वतन योजना के तहत जिला प्रशासन कोविड-19 से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों से वापस लौटे जिले के कुशल एवं अकुशल श्रमिकों के जीविकोपार्जन हेतु स्थानीय स्तर पर ही अवसर प्रदान करने के लिए भी प्रयासरत है।

उन्होंने कहा कि क्लस्टर निर्माण के माध्यम से आंगुतक श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने की संबंधी कार्ययोजना को अब धरातल पर उतारना सुनिश्चित करें। इसके लिए जिन औद्योगिक गतिविधियों से संबंधित क्लस्टर्स के संबंध में यदि निर्णय किए जा चुके हैं उसकी विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन प्राप्त करते हुए प्रशासनिक व वित्त संबंधी कार्रवाई प्रारंभ करें। बैठक के दौरान बताया गया कि अब तक पांच क्लस्टर्स चिन्हित किए गए हैं जिसमें स्कूल बैग निर्माण, मधुबनी पेंटिंग एवं मास्क निर्माण, सोप सैनिटाईजर एवं हर्बल वस्तुएं , वुडेन फर्नीचर , गारमेंट एवं सूट एवं अगरबत्ती निर्माण शामिल हैं।

जिला पदाधिकारी ने कहा कि इन क्लस्टर्स को योजना मार्गदर्शिका के अनुसार फॉरवर्ड लिंकेज के तहत सहयोग प्रदान करते हुए क्लस्टर को सक्रिय बनाना सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान यह भी सूचित किया गया कि कृषि विभाग द्वारा 113 श्रमिकों को मशरूम की खेती हेतु प्रशिक्षण देने के लिए चिन्हित किया गया है। इस अवसर पर जिला योजना पदाधिकारी अर्जुन सिंह, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र राजकुमार शर्मा, श्रम अधीक्षक अनिल कुमार शर्मा, जिला नियोजन पदाधिकारी श्रीमती श्वेता वशिष्ठ, प्रबंधक डीआरसीसी श्रीमती सुनीरा प्रसाद एवं अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Arvind-Kumar-Verma