बेगूसराय में बाढ़ का खतरा : बूढ़ी गंडक नदी खतरे के निशान के करीब, गंगा की जलस्तर में भी बढोत्तरी

Flood Begusarai

न्यूज डेस्क : विगत एक दशक में अमूनन जुलाई और अगस्त माह में उफनाने वाली बूढ़ी गंडक नदी साल 2021 के जून माह में आंख दिखा रही है। मानसून के ससमय आने से हो रही बारिश से विगत 10 जून से नदी की जलस्तर में नियमित वृद्धि जारी है। 10 जून से जलस्तर में हो वृद्धि 15 जून तक सामान्य रही । 15 जून से 21 जून तक जलस्तर की बढोत्तरी की रिपोर्ट खतरे की परिचायक है। फिर 21 जून से अबतक धीमी रफ्तार से नदी में पानी बढा है। दियारा की फसल डूबने के कगार पर है। पिछले साल 2020 में बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में खूब वृद्धि हुई थी।

जिस कारण सात जुलाई से लेकर आधी अगस्त तक बेगूसराय जिले में बाएं और दाएं दोनों तटबंधों पर भारी दबाब बना हुआ था । दर्जनों जगह पर फ्लड फाइटिंग किया गया था । बावजूद इसके पिछले साल 2020 में नदी में जून माह में वर्तमान जलस्तर से काफी कम था । जो 7 जुलाई तक खतरे की निशान से 40 सेमी नीचे तक रहा था । इस साल नदी की जलस्तर जून माह में ही तूफानी गति से बढ़ रही है । इस लिहाज से सरकार और विभागीय लोगों के लिए एक प्रकार से खतरे की घन्टी बज गयी है । दूसरे तरफ गंगा नदी में भी उफान मचा हुआ है। गंगा के दियारा क्षेत्र के गड्ढे पानी से भरने लगे हैं । गंगा के बढ़ते पानी से दियारा क्षेत्र के लोग , किसान अपने पशुओं के साथ ऊँचे स्थल की तरफ रुख करने लगे हैं।

ये भी पढ़ें   केंद्रीय विद्यालय गढ़हरा में दो दिवसीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता का किया गया शुभारंभ

सिवरी पुल मीटर गेज की रिपोर्ट : यहाँ खतरे का निशान – 40.67

  • 23 जून – 38 . 23
  • 24 जून – 38 . 50
  • 2 5 जून – 38 . 78

रोसरा रेलवे पुल मीटर गेज की रिपोर्ट : यहाँ खतरे का निशान – 42.63

  1. 23 जून : 41. 99
  2. 24 जून : 42 . 11
  3. 25 जून : 42 . 36

मीटर गेज की रिपोर्ट अपडेट है , मीटर की इकाई में