बेगूसराय : किसानों की खेती होगी सुविधाजनक , कृषि यंत्रों के उपयोग को लेकर प्रशिक्षण कार्यशाला का हुआ आयोजन

Farming

न्यूज डेस्क : कृषि विज्ञान केंद्र बेगूसराय में कोरोना काल में किसानों की खेती पर इसके असर को कम करने के लिये 17 से 19 मई तक फार्म मशीनरी बैंक की स्थापना तथा इसके सफल परिचालन विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया।इस प्रशिक्षण के समापन कार्यशाला में में बिहार के 17 जिलों से 185 प्रतिभागियों ने नामांकन कराया था,लेकिन डिजिटल प्लेटफॉर्म के उपयोग की सही जानकारी नहीं होने से मात्र 70 किसानों ने ही इस प्रशिक्षण में भाग लिया।

कार्यक्रम को आरंभ करते हुये वरीय वैज्ञानिक सह प्रधान वैज्ञानिक डॉ रामपाल ने कार्यक्रम के उद्देश्यों एंव रूपरेखा का वर्णन करते हुये अतिथियों एंव प्रतिभागियों का स्वागत किया।मुख्य अतिथि के तौर पर डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ एमएस कुंडू ने प्रशिक्षण के विषय की गंभीरता को समझाते हुये सभी किसानों एवं वैज्ञानिकों का भी मनोबल बढ़ाया। प्रथम दिन कुल 3 प्रशिक्षकों ने अपना विचार साझा किया।जिसमें इंजीनियर विनीता कश्यप,विषय वस्तु विशेषज्ञ कृषि अभियंत्रण कृषि विज्ञान केंद्र बेगुसराय फार्म मशीनरी बैंक की आवश्यकता तथा महत्व पर विस्तार से चर्चा की।

रोहतास जिले के फॉर्म बैंक संचालन में सफल किसान श्री गौतम प्रसाद सिंह तथा छौड़ाही प्रखंड अंतर्गत एकंबा गांव के किसान सलाहकार अनीश कुमार ने अपने अपने अनुभव को प्रतिभागियों के साथ साझा किया।दुसरे दिन शुरुआत में बेगूसराय जिले में पदस्थापित सहायक निदेशक कृषि अभियंत्रण इंजीनियर अजीत कुमार ने सरकार द्वार फार्म मशीनरी बैंक स्थापना हेतु चलाये जा रहे योजनाओं के बारे में चर्चा की।कृषि विज्ञान केंद्र मुजफ्फरपुर के विषय वस्तु विशेषज्ञ इंजीनियर निधि सिंह ने बैंक प्रबंधन तथा रखरखाव विषय पर विस्तार से चर्चा की।

अंत में वरीय डॉ एस पटेल एवं विभागाध्यक्ष कृषि अभियंत्रण महाविद्यालय ने प्रशिक्षणार्थियों को उनके जोत एवं फसल के अनुसार उपयोगी मशीनों को चयन करने की जानकारी दी।तीसरे दिन यानी समाापन सत्र मेेंं वैज्ञानिक रामपाल ने सभी किसानोंं और वैैज्ञानिकों शुभकामनाएंं देते हुये मशीन खरीदने के निर्णय लेने के लिए विभिन्न तकनीकों की जानकारी दी।तत्पश्चात इंजीनियर सौरभ शंकर पटेल विषय वस्तु विशेष कृषि विज्ञान केंद्र सारण ने मशीनों के परिचालन में सावधानियां एवं स्वास्थ्य बिंदुओं पर चर्चा किया।

इसके बाद इंजीनियर विनीता कश्यप किसी भी मशीन का किराया कैसे निर्धारण किया जाये इसकी जानकारी सभी प्रतिभागियों को दी।सभी प्रतिभागियों एवं विशेषज्ञों को धन्यवाद देते हुये डॉ राम पाल ने सभी से अपने-अपने पंचायत में कस्टम हायरिंग सेंटर की स्थापना करने की सलाह दी।एकंबा गांव के किसान सलाहकार श्री अनीश कुमार अपने कस्टम हायरिंग सेंटर का लाइव प्रत्यक्षण सभी प्रतिभागियों को कराया।भाग लेने वाले प्रतिभागियों में अविनाश कुमार, विपिन कुमार,नरोत्तम मिश्रा,ललन सिंह,चंदन कुमार, गुलशन कुमार,अंकित राज,लालबाबू चौधरी,मनीषा कुमारी,पप्पू ठाकुर,रौनक कुमार,शिवकांत सिंह,विजय कुमार सिंह,सुनील कुमार मेहता,प्रदीप दास,चंदन कुमार आदि शामिल हुये।

You may have missed

You cannot copy content of this page