खाद की कालाबाजारी समेत 9 सूत्री मांगों को ले 5 सितंबर को बेगूसराय समाहरणालय के समक्ष किसानों का धरना

Farmer Meeting

तेघरा (बेगूसराय) जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने , किसानों को फसल क्षति का मुआवजा देने, विस्थापित परिवारों को पुनर्वास की व्यवस्था, प्रत्येक लीटर 10 रुपया दूध पर किसानों को सब्सिडी देने, खाद की कालाबाजारी सहित 9 सूत्री मांगों को लेकर 5 सितंबर को बेगूसराय समाहरणालय के समक्ष किसानो व पैक्स अध्यक्षों एक दिवसीय धरना की तैयारी की तैयारी को लेकर बरौनी एक भक्ति जो पुस्तकालय के सभागार में तेघरा प्रखंड के किसान एवं पैक्स अध्यक्षों की संयुक्त बैठक किसान सभा के प्रखंड सचिव सह किसान नेता दिनेश सिंह की अध्यक्षता में की गई।

बैठक में विभिन्न मुद्दा सहित खाद की कालाबाजारी, किसानों को उचित मूल्य पर खाद मुहैया करवाने, जिला कृषि कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार को खत्म करने के साथ ही जिले को सुखार घोषित व किसानों को लोन माफ करने सहित जिला स्तरीय धरना की तैयारी व जिला कृषि पदाधिकारी के किसान विरोधी रवैया एवं जिला कृषि कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार तथा खुदरा दुकानदार व किसानों को उचित मूल्य पर खाद मुहैया करवाने के साथ ही खाद के साथ नैनो यूरिया एवं एंजाइम जैसे अन्य उत्पादों को जबरन देने जैसे दर्जनों किसान की समस्या से जुड़े एजेंटों पर बैठक में विस्तार से चर्चा की गई।

किसान सभा के अशोक सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि खाद की कालाबाजारी एवं थोक विक्रेता के साथ कृषि कार्यालय के अधिकारी एवं कर्मियों की मिलीभगत से खुदरा दुकानदार एवं किसानों को उचित मूल्य पर खाद की उपलब्धता पर भारी संकट खड़ा हो गया है। जिस को लेकर निर्धारित मूल्य 266 .50 रुपए के बदले बाजार से किसान 300 से 400 रुपए के बीच यूरिया खाद खरीदने को मजबूर है। और यह सभी गोरखा धंधा जिला कृषि कार्यालय की मिलीभगत से हो रही है।

ये भी पढ़ें   रेलवे स्कूल गढ़हरा के पुनः संचालन को लेकर संघर्ष समिति ने अबीर गुलाल लगाकर खुशी का इजहार किया

अगर किसानों को उचित मूल्य पर खाद की आपूर्ति नहीं की जाएगी यूरिया के बदले नैनो खाद लेने पर अगर मजबूर किया गया तो तेघरा के किसान चरणबद्ध तरीके से भ्रष्ट पदाधिकारियों एवं कर्मियों के विरुद्ध आंदोलन करेगी। उन्होंने बताया कि खरीफ फसल बारिश नहीं होने की वजह से पूरी तरह से चौपट हो गई इसके लिए सरकार जिले को सूखाग्रस्त घोषित कर किसानों क्षतिपूर्ति एवं को लोन माफ कर किसान को राहत पहुंचाएं।

बैठक में जुलुम सिंह, सनातन सिंह, पूर्व मुखिया भोला सिंह, विधान परिषद तेघरा अनुमंडल प्रतिनिधि विनोद मिश्र उर्फ गोरेलाल बाबा,बरौनी 2 के पैक्स अध्यक्ष मुरारी यादव, फुलवरिया 3 के अशोक महतो, बारो उत्तरी के नागेंद्र सिंह, निपनियां मघुरापुर के संधीर सिंह, बरौनी एक के सरोज सिंह, गौरा 2 के मुखिया पंकज पासवान, ब्रजकिशोर चौधरी,पंकज कुमार, मिंटू कुमार के अलावा अन्य किसान मौजूद थे।