बेगूसराय में छठ महापर्व में खतरनाक घाट प्रतिबंधित, अन्य घाटों व पोखरों पर गोताखोर के तैनाती के आदेश

Chatth GHat

बेगूसराय : बुधवार को नहाय खाय से शुरू हो रहे छठ महापर्व को लेकर जिला पदाधिकारी अरविंद वर्मा ने कहा कि इस साल अपेक्षाकृत अधिक वर्षा होने के कारण विभिन्न जलाशयों में अत्यधिक पानी होने के कारण आकस्मिक घटनाओं से बचाव हेतु चिन्हित नदी घाटो अथवा तालाब/पोखरों में सुरक्षापायों हेतु सभी संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है।

सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को खतरनाक छठ घाटी अथवा तालाब/पोखरों को पूजा हेतु पूर्णतया प्रतिबंधित करने के साथ-साथ सामान्य घाटो अथवा तालाब/पोखरी संख्या में नाव एवं गोताखोरों की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया। इसके अतिरिक्त सभी छठ घाटों अथवा तालाब/पोखरों में निर्धारित स्थल पर बैरेकेडिंग करवाने का भी निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि नगर निकायों को भी अपने स्तर से सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के साथ-साथ नगर क्षेत्रों के छठ घाटों को सैनिटाईज करवाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि छठ पूजा घाट के आसपास खाद्य पदार्थों के स्टॉल स्थापना नहीं हो पाने तथा किसी भी प्रकार के सामुदायिक भोजाप्रसाट या भोग का वितरण नहीं हो, को सुनिश्चित करने हेतु सभी संबंधित पदाधिकारियों की निर्देश दिया गया है। इसके अतिरिक्त इस अवसर पर किसी भी प्रकार के मेला/जागरण/सास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

एसपी अवकाश कुमार ने जिला वासियों को छठ की दी शुभकामनाएं व प्रशासनिक निर्देश पालन करने के लिए की अपील इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार ने जिलेवासियों को छठ पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आस्था के इस पर्व को सुरक्षित तरीके से संपन्न करवाने में जिला प्रशासन दवारा जारी दिशा-निर्देश का अवश्य अनुपालन करें, ताकि कोविड-19 के संक्रमण में प्रसार न हो। उन्होंने कहा कि पर्व के दौरान पुलिस प्रशासन भी पूरी मुस्तैदी के साथ अपने उत्तरदायित्व का निर्वहन करेगी तथा पूरा प्रयास करेगी कि इस दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना न हो। उन्होंने शहरी क्षेत्रों में ट्रैफिक व्यवस्था के सुचारू संचालन सुनिश्चित की जाएगी।

You cannot copy content of this page