बेगूसराय : गंगा के जलस्तर में लगातार हो रही बढोत्तरी, दियारा क्षेत्र में लहलहाती फसलें डूबी

Ganga Nadi

न्यूज डेस्क : जिले में गंगा नदी के विभिन्न दियारा क्षेत्रों में लगातार गंगा नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी होने से पानी फैल गया है। हालांकि विगत 2 दिनों से पानी में घटाव हुआ था। लेकिन, मौसम की सक्रियता से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जून माह में ही बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। बता दें की जलस्तर में बढ़ोतरी के कारण जिले के विभिन्न प्रखंड क्षेत्रों के किसानों की लहलहाती फसल भी गंगा की पानी में समा गई है।

खासकर, गंगा दियारा क्षेत्रों में हजारों एकड़ में पटल, करेला, लौकी, नेनुआ, बरबट्टी बैंगन, एवं भिंडी आदि हरी सब्जी की फसल बर्बाद हो गया। जिसमे किसानों को काफी लाखों का नुकसान हुआ है। जानकारी देते हुए एसकमाल प्रखंड के अंचलाधिकारी (CO) जय कृष्ण प्रसाद ने बताया जिला प्रशासन के निर्देश पर एसकमाल प्रखंड क्षेत्र में लगातार गंगा स्तर में बढ़ोतरी को लेकर प्रशासन अलर्ट है। अभी दियारा क्षेत्रों में फिलहाल खेतों तक पानी पहुंचा है। कोई भी गांव अभी तक बाढ़ की चपेट में नहीं आया है। आगे उन्होंने बताया प्रखंड क्षेत्र प्रभावित क्षेत्रों हीरा टोल, सलेमाबाद , चेचियाही बांध, पीपा पुल तक लगातार निरीक्षण किया जा रहा है। और जितने भी बांध पर मरम्मत कार्य कार्य हो रहा है उसे भी अति शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा। बेगूसराय जिले में भी गंगा और बूढ़ी गंडक नदी उफान पर है। दियारा में लगी फसलें डूबने लगी है। पशुपालक किसान और पशुओं के सामने पशुचारा और फसलें डूबने से संकट व्याप्त हो रही है।

आगे उन्होंने बताया प्रखंड क्षेत्र में कुल 44,443 बाढ़ प्रभावित लोगों का मुआयना कर सभी को डाटा पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। जिससे उन्हें राहत मिल सके। प्रखंड क्षेत्र में कुल 14 नाव, 18 गोताखोरों को भी सक्रिय कर दिया गया है। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए कुल 8 राहत शिविर बनाए गए हैं। तथा कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए कुल 6 आइसोलेशन वार्ड भी बनाए गए हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page