अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद बिहार के IAS को मिला पहला डोमिसाइल सर्टिफिकेट

पटना डेस्क: बिहार के आईएएस अधिकारी नवीन कुमार जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासी बन गए हैं. वह अनुच्छेद-370 खत्म होने के बाद डोमिसाइल सर्टिफिकेट पाने वाले पहले आईएएस अधिकारी हैं। मालूम हो कि जम्मू-कश्मीर से बीते वर्ष अगस्त महीने में अनुच्छेद-370 को समाप्त कर दिया गया था. दरभंगा के मंझौलिया निवासी इस अधिकारी को निवास प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया है.

चौधरी को डोमिसाइल सर्टिफिकेट जम्मू की बाहु तहसील के तहसीलदार डॉ रोहित शर्मा ने जारी किया है. दरभंगा के हायाघाट प्रखण्ड के मझौलिया गांव रहने वाले नवीन कुमार चौधरी के पिता का नाम श्री देवकांत चौधरी और मां-वैदेही देवी है. चार भाई और एक बहन में नवीन चौधरी सबसे बड़े हैं.  1994 बैच के यूपीएससी परीक्षा में उन्हें 6ठवां रैक मिला था. उनकी प्रारंभिक पढ़ाई गांव के मझौलिया मध्य बुनियादी विधायलय में हुई है. ललितेश्वर मधुसूदन हाई स्कूल से मैट्रिक पास करने के बाद उन्होंने पटना विश्वविद्यालय से स्नातक किया था.  वर्तमान में ऐग्रिकल्चर डिपार्टमेंट में प्रिंसिपल सेक्रेटरी हैं.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर डोमिसाइल कानून के तहत 15 साल से रहने वाले नागरिकों को यह सर्टिफिकेट हासिल करने का अधिकार है. आइएएस अधिकारी नवीन चौधरी 25 साल की उम्र में जम्मू-कश्मीर का कैडर हासिल कर बिहार से आए थे. 26 साल बाद वह जम्मू-कश्मीर के स्थायी नागरिक बन गए हैं.

इनपुट : बिहार पोस्ट नाउ