बड़ी खबर : बेगूसराय में मुखिया पद पर मतगणना में वार्ड सदस्य और मुखिया के ईवीएम की हुई हेरफेर, जानें कैसे मिली हार को जीत और जीत को हार

Katermala news

न्यूज डेस्क : बिहार भर में पंचायत चुनाव के तीसरे चरण की मतगणना आज शनिवार को देर शाम तक जारी है। 8 अक्टूबर को आयोजित तीसरे चरण के मतदान में राज्य के 35 जिलों के 50 प्रखंडों में चुनाव कराए गए थे । बेगूसराय में भी वीरपुर व डंडारी प्रखण्ड में तीसरे चरण का मतदान हुआ । जिसकी मतगणना आज जिला मुख्यालय के बाजार समिति और जीडी कॉलेज में करायी जा रही है। दोपहर के वक्त जीडी कॉलेज काउंटिंग सेंटर पर मतगणना के बीच जमकर हंगामा हो गया। जीडी कॉलेज में डंडारी प्रखण्ड का मतगणना किया चल रहा है। इसी केंद्र पर कटरमाला दक्षिणी पंचायत की एक मुखिया प्रत्याशी पहले मतगणना में जीत गए, लेकिन थोड़ी देर बाद फिर से हुई काउंटिंग हुई तो वह दो वोट से हार गई।

इसके बाद जीडी कॉलेज के सामने सरक पर जमकर हो हंगामा भी हो गया पुलिस बल को स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लाठी भाजना परा । बताया जाता है कि प्रथम बार मतगणना में मुखिया प्रत्याशी रंजू देवी 2 लगभग दो सौ वोट से जीतने की घोषणा कर दी गई । लेकिन रिजल्ट को लेकर विवाद शुरू हो गया। इसके बाद जिस प्रत्याशी को जीत मिली थी, वह दो वोट से हार गयी । इस बात की जानकारी जैसे ही रंजू देवी के समर्थकों को लगी तो समर्थकों ने मतगणना केंद्र पर जमकर हंगामा किया। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर आक्रोशित लोगों को खदेड़ना परा । निर्वाचन आयोग के वेवसाइट पर उक्त पंचायत का रिजल्ट प्रकाशित कर दिया गया है। जहां संजू देवी दो मत से रंजू देवी 2 को हरा दी । सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार मतगणना के बीच उपपोह का पूरा मामला पंचायत के एक वार्ड में वार्ड सदस्य प्रत्याशी और मुखिया के ईवीएम में हेर फेर हो गयी जिस कारण ऐसी स्थिति उतपन्न हुई। बाद में जब सही तरीके से ईवीएम से कॉउंटिंग हुई तो पूर्व में जीते हुए कंडीडेट को हार व हारे हुए कंडीडेट को जीत मिल गयी।

वहीं डंडारी प्रखण्ड के निर्वाची पदाधिकारी से इस पूरे मामले की जानकारी के लिए फोन किया गया तो समाचार प्रेषण तक उनसे संपर्क नहीं हो पाया है। सूत्र बताते हैं कि जीडी कॉलेज पर जारी कटरमाला दक्षिणी पंचायत की जहां मतगणना हो रही थी वहां ईवीएम हेरफेर हुई थी। पहली बार में पंचायत के एक वार्ड के एक वार्ड सदस्य के ईवीएम को मुखिया में गीन दिया । फिर जब वार्ड सदस्य की जारी गिनती में एक ईवीएम घट गया तो मामला फंस गया वहीं मुखिया वाला मतगणना हॉल में एक वार्ड का ईवीएम वार्ड सदस्य के काउंटर पर पहुंच गया । बताया जाता है कि निर्वाची पदाधिकारी ने ईवीएम एक्सचेंज करके गिनती किया तो रिजल्ट पलट गया।

You cannot copy content of this page