बड़ी खबर : कावर झील पक्षी बिहार में शिकारियों पर कसा प्रशासनिक शिकंजा , छापेमारी जारी

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : इस वक्त की सबसे बड़ी खबर बेगूसराय जिले के कावर झील पक्षी विहार से आ रही है जहां पर विदेशी मेहमान पक्षियों के शिकार करने वाले शिकारियों के ऊपर प्रशासन का पंजा कसता हुआ दिख रहा है। आपको बता दें कि बेगूसराय के मंझौल अनुमंडल के कावर झील पक्षी बिहार एशिया फेमस कावर झील पक्षी विहार है जो कि पूरे बिहार का एकमात्र रामसर साइट है इसको विश्वस्तरीय वेटलैंड होने का दर्जा प्राप्त है।

परंतु यहां पर आने वाले विदेशी मेहमान पक्षियों का शिकार बीते दिनों से लगातार जारी है , आपको बता दें कि जो विदेशी मेहमान पक्षी यहां पर आते हैं उनका यहां के शिकारियों के द्वारा अवैध तरीके से शिकार किया जाता है, और लोग विदेशी मेहमान पक्षियों के मांस का भक्षण करते हैं और अपने जीभ को तसल्ली पहुंचाते हैं। आपको बता दें कि बीते दिनों लगातार खबर प्रकाशन के बाद बेगूसराय प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है। उसके बाद मंझौल के एसडीएम इंजीनियर मुकेश कुमार , एसडीपीओ सत्येंद्र प्रसाद सिंह के कई थानाध्यक्षों के साथ कावर झील में अवैध शिकार करने वालों के ऊपर कानूनी शिकंजा कसा है और अभी बुधवार की दोपहर कावर झील में छापामारी की जा रही है।

मंझौल डीएसपी सत्येंद्र सिंह ने बताया की छापेमारी की भनक लगते ही शिकारी मौके से फरार हो गया । जिसके बाद कावर झील पक्षी बिहार में सघन छापामारी अभियान करीब तीन घण्टे तक चलाया गया । अवैध नाव व जाल को बरामद कर लिया गया । मेहमान पक्षियों के शिकार करने बालों के खिलाफ अभी लगातार आगे भी धरपकड़ अभियान जारी रहेगा ।