बेगूसराय की आईरा के ह्रदय में था छेद, सरकार ने फ्लाइट से अहमदाबाद भेज करवाया निः शुल्क ऑपरेशन

Operation

न्यूज डेस्क : सरकारी योजना सही तरीके फलीभूत हो तो आम लोगों के लिए वरदान साबित होता है। ऐसा ही एक उदाहरण बेगूसराय में देखने को मिला है।बताते चलें कि मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना पार्ट 2 में बच्चों में जन्मजात ह्रदय में छेद होने पर बच्चे के निः शुल्क इलाज के लिए बाल ह्रदय योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत ही बेगूसराय के तेघड़ा प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत किरतौल गांव के मो. इम्तियाज और माता रुखसार प्रवीण की 6 वर्षीय बच्ची आइरा प्रवीण का राज्य सरकार की मदद से अहमदाबाद के सत्य साईं ह्रदय रोग अस्पताल में ह्रदय में छेद का निः शुल्क ऑपरेशन किया गया। ह्रदय का सफल ऑपरेशन होने के बाद बच्ची अपने अभिभावक के साथ अपने घर करतौल लौट आयी है।

बच्ची को सर्दी- खांसी, बुखार, भूख नहीं लगना ऐसा था सिम्पटम्स सदर अस्पताल बेगूसराय में आरबीएसके कोर्डिनेटर डॉ. रतिश रमण ने बताया, तेघड़ा प्रखण्ड के किरतौल गांव निवासी मो. इम्तियाज और उनकी पत्नी रुखसार प्रवीण अपनी छह साल की बच्ची आर्या प्रवीण का इलाज़ करवाने बेगूसराय आये हुए थे जिसकी जानकारी मुझे मिली। बच्ची को सर्दी- खांसी, बुखार, भूख नहीं लगना के लक्षण थे। मैंने इसे गम्भीरता से लेते हुए तेघड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर मुस्तैद आरबीएसके की टीम को दिख रहे लक्षण के आधार पर बच्ची की स्क्रीनिंग कर रिपोर्ट देने को कहा। आरबीएसके टीम के द्वारा भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर मुझे सन्देह हुआ और फिर मैंने बच्ची को एम्बुलेंस के जरिये पटना स्थित इंदिरा गांधी ह्रदय रोग संस्थान (आईजीआईसी) स्क्रीनिंग के लिए भेज दिया। जहां अहमदाबाद से आए चिकिसकों की उपस्थिति में की गई जांच में बच्ची के ह्रदय में छेद होने की पुष्टि हुई।

बच्ची विमान से अहमदाबाद भेजी गयी इसके बाद पटना से मुझे बच्ची के ह्रदय के निःशुल्क ऑपरेशन के लिए अहमदाबाद भेजे जाने को ले बच्ची के अभिभावक से मिलकर जरूरी डॉक्यूमेंट तैयार करने का निर्देश मिला। इसके बाद मैंने बच्ची के अभिभावक से मिलकर सभी आवश्यक कागजात तैयार कर पटना भेज दिया और पटना से निर्देश मिलने के बाद बच्ची और उसके अभिभावक को विमान से अहमदाबाद जाने के लिए एम्बुलेंस से बेगूसराय से पटना भेज दिया। पटना से बच्ची आर्या प्रवीण सहित राज्य के सभी 21 बच्चों को उसके एक- एक अभिभावक के साथ विमान से पटना से अहमदाबाद भेज दिया गया।

ऑपरेशन के बाद बच्ची आइरा प्रवीण है बिल्कुल स्वस्थ्य अहमदाबाद के सत्य साईं ह्रदय रोग अस्पताल में बच्ची के ह्रदय का सफल ऑपरेशन के बाद बच्ची और उसके अभिभावक सकुशल अहमदाबाद से पटना और फिर एम्बुलेंस से अपने गांव तेघड़ा के किरतौल लौट आये हैं। ऑपरेशन के बाद बच्ची आर्या प्रवीण अभी बिल्कुल स्वस्थ्य है।

बच्ची के पिता पूरा श्रेय राज्य सरकार की योजना को देते हैं आइरा प्रवीण के पिता मो. इम्तियाज ने बताया, पटना के इंदिरा गांधी ह्रदय रोग संस्थान में हुई स्क्रीनिंग के बाद जब मुझे मालूम हुआ कि मेरी बच्ची के ह्रदय में छेद है तो मैं बिल्कुल ही सन्न रह गया कि ये क्या हो गया। पता नहीं मैं अपनी बच्ची को बचा पाऊंगा या नहीं। ऐसे समय में बेगूसराय के जिला आरबीएसके कोर्डिनेटर डॉ. रतिश रमण ने मुझे हौसला दिया कि आपके बच्ची के ह्रदय का राज्य सरकार की पहल पर राज्य से बाहर निःशुल्क ऑपरेशन किया जा सकता है। उनके सहयोग और सलाह की बदौलत ही आज मेरी बच्ची के ह्रदय का निः शुल्क ऑपरेशन सम्भव हो पाया है। मेरी बच्ची आज पूरी तरह से स्वस्थ्य है जिसका पूरा श्रेय राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना बाल ह्रदय योजना को जाती है। इस योजना के तहत ही मेरी बच्ची सहित राज्य भर के कुल 21 बच्चों के ह्रदय का निःशुल्क ऑपरेशन सम्भव हो पाया है।

You cannot copy content of this page