बेगुसराय सिंगुर और नंदीग्राम बन जायेगा पर पेप्सी की फैक्ट्री नहीं लगने दिया जाएगा – आम आदमी पार्टी

न्यूज डेस्क , बेगूसराय : बेगुसराय में पेप्सी की फैक्ट्री के लगने को लेकर विवाद शुरू हो गया है। हाल ही में एक आयोजन में बिहार के नवनियुक्त उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने एक बयान दिया था कि बरौनी में पेप्सी की 550 करोड़ की फैक्ट्री लगाई जाएगी। इस पर टिप्पणी देते हुए हुए आम आदमी पार्टी के वरीय प्रदेश उपाध्यक्ष अंगेश सिंह ने कहा कि सबसे पहले स्पस्ट कर दूं की आप बिहार में उद्योग लगने के ख़िलाफ़ नहीं है, बल्कि बिहार को औद्योगिक प्रदेश बनाना चाहती है।

जिससे बिहार में रोजगार के अवसर सृजित हों। परंतु विवाद पेप्सी की फैक्ट्री लगाने को लेकर है, क्योंकि पेप्सी की फैक्ट्री जहाँ कहीं भी लगी है, उसका खामियाजा आसपास के लोगों को ज्यादा उठाना पड़ा है। पेप्सी जैसी फैक्ट्री के लगने से भूमिजल स्तर बहुत नीचे चला जाता है, जिससे किसानों की जमीन बंजर हो जाती है, और पीने के पानी की गंभीर समस्या उत्पन्न हो जाती है। फैक्ट्री कीटनाशक का बहुत ज्यादा उपयोग करती है जिससे प्रदूषण की समस्या और मिट्टी ख़राब हो जाती है, नदियाँ और तालाब भी दूषित होती है।

चुँकि उतर बिहार में अन्य राज्यों की तुलना में पानी का स्तर ठीक है पर गर्मियों में यहाँ भी समस्या उत्पन्न हो जाती है।तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, राजस्थान, हिमांचल में पेप्सी और कोकाकोला कंपनी की जनता विरोध कर रही है, और फैक्ट्रियां बंद करनी पड़ रही है। इसलिए यह विदेशी कंपनी बिहार आना चाह रही है। जिसका आम आदमी पार्टी घोर विरोध करती है।

अंगेश ने यह भी कहा कि छोटे लाभ के लिए बड़ी आवादी के साथ में खिलवाड़ नहीं किया जा सकता, पेप्सी, कोकाकोला जैसी कंपनी प्राकृतिक संसाधनों का भरपूर दोहन कर गंभीर समस्या उत्पन्न करती रही है। जिसका आर्थिक लाभ विदेशी कंपनी को होता है। पीने की पानी की समस्या और बंजर जमीन के एवज में 100-200 रोजागर नहीं चाहिए, 1 लीटर पेप्सी तैयार करने में 1000 लीटर पानी बर्बाद होता है।

उद्योग मंत्री उद्योग लगाने का प्रयास जरूर करें, हम उनका सहयोग करेंगे पर बुद्धिमत्ता का इस्तेमाल करें। स्वदेशी कंपनी और ऐसे उद्योग को लगाएं जिससे ज्यादा से ज्यादा रोजगार उत्पन्न हो और प्राकृतिक संसाधन के दोहन न हो , सस्टनैवेल डेवलपमेंट पर ध्यान दिया जाए। अंगेश ने कहा कि इस प्रस्ताव पर जल्द रोक लगाया जाए, हम जल्द ही उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन, सांसद गिरिराज सिंह, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखेंगे, और जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी करेंगे। बेगुसराय सिंगुर और नंदीग्राम बन जायेगा पर पेप्सी की फैक्ट्री नहीं लगने दिया जाएगा।